रोने से अच्छा सामंजस्य बिठाना जरूरी: अश्विन

By: | Last Updated: Monday, 29 February 2016 7:55 PM
Should adapt to conditions rather than fighting it: Ashwin

मीरपुर: भारत के चोटी के स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को शेर ए बांग्ला स्टेडियम की तेज गेंदबाजों की अनुकूल पिच से कोई शिकायत नहीं है जिससे स्पिनरों को बहुत कम मदद मिल रही है. उनका मानना है कि भिन्न परिस्थितियों का रोना रोने के बजाय उनसे सामंजस्य बिठाना चाहिए.

अश्विन ने श्रीलंका के खिलाफ राउंड रोबिन लीग मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘यह जानना बेहद महत्वपूर्ण है कि आपको कैसी परिस्थितियों में खेलना है. आप परिस्थितियों पर फतह करने की कोशिश नहीं कर सकते हो. यह समझना महत्वपूर्ण है कि इन पिचों पर गेंद बहुत अधिक स्पिन नहीं होगी. इसलिए सही लेंथ से गेंदबाजी करना और विकेटों पर ध्यान देने के बजाय किफायती गेंदबाजी करने पर ध्यान देना अधिक जरूरी है. ’’

इस ऑफ स्पिनर ने कहा, ‘‘इस टी20 प्रारूप में आपके कौशल के बजाय दबाव के कारण आपको विकेट मिलते हैं. मैं इसी पर ध्यान देता हूं और जब आक्रमण की स्थिति हो तो फिर मैं विकेट को ध्यान में रखे बिना आक्रमण करता हूं. यह टी20 क्रिकेट है. हमें हो सकता है कि विश्व टी20 में धीमा और सपाट विकेट मिले. हमें परिस्थितियों की शिकायत करने के बजाय उन्हें समझना होगा. विभिन्न परिस्थितियों में खुद को आजमाना हमारे लिये अच्छा है. ’’ अश्विन ने कहा कि विकेट तैयार करना मेजबान टीम की पसंद है. उन्होंने कहा, ‘‘यह उनकी पसंद है कि वे किस तरह का विकेट चाहते हैं. हम यह सोच रहे थे कि विकेट धीमा होगा लेकिन अंतरराष्ट्रीय टीमों को जो भी विकेट मिले उससे तालमेल बिठाना चाहिए. ’’

कोहली की पारी शानदार –

अश्विन ने कहा कि कोहली की आमिर के खिलाफ बल्लेबाजी ‘हिम्मत और साहस’ का बेजोड़ नमूना थी जिससे ड्रेसिंग रूम में बहुत राहत मिली. उन्होंने कहा, ‘‘हमें जरूरत थी कोई वहां पर टिककर खेले क्योंकि आमिर वास्तव में बेहतरीन गेंदबाजी कर रहा था. हमें जरूरत थी कोई जज्बा दिखाये. विराट ने वह जज्बा दिखाया तथा रक्षात्मक रवैया अपनाने के साथ आक्रामक तेवर भी दिखाये जिससे सभी खिलाड़ियों को बहुत अधिक राहत मिली. ’’

अश्विन ने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर हम जानते थे कि 20 से 30 रन की साझेदारी निभाने से मैच खत्म हो जाएगा क्योंकि लक्ष्य बड़ा नहीं था. विराट ने हालांकि हिम्मत और साहस का बेजोड़ नमूना पेश किया और यह बेहद प्रेरणादायी रहा. ’’ अश्विन का मानना है कि भारत पाक मैच एक अन्य मैच की तरह ही होता है. उन्होंने कहा, ‘‘मैं जब से भारतीय टीम के साथ हूं तब से मैंने यही देखा है कि यह एक अन्य मैच की तरह होता है. मैं जानता हूं कि इस मैच को लेकर काफी हाइप होती है. ’’

बुमराह और नेहरा ने बदली गेंदबाजी –

उन्होंने स्वीकार किया कि जसप्रीत बुमराह और आशीष नेहरा के अच्छे प्रदर्शन से स्पिनरों को काफी मदद मिलती है. अश्विन ने कहा, ‘‘आशीष अनुभवी है और उन्होंने आईपीएल में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया. वह शुरू में गेंद स्विंग करा सकता है और डेथ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी करता है. बुमराह का विशिष्ट तरह का एक्शन है और वह बहुत अच्छी यॉर्कर करता है और इससे हमें बीच के ओवरों में काफी आत्मविश्वास बढ़ता है. ’’

Cricket News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Should adapt to conditions rather than fighting it: Ashwin
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017