Stuart broad_

Stuart broad_

By: | Updated: 04 Mar 2015 05:47 PM

एडीलेड: इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने स्वीकार किया है कि पिछले साल घरेलू मैदान पर भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान नाक पर लगी भारतीय तेज गेंदबाज वरुण एरॉन की बाउंसर के डर से वह अब तक नहीं उबर पाए हैं.




 

उल्लेखनीय है कि पिछले साल अगस्त में मैनचेस्टर टेस्ट में भारत के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए एरॉन की बाउंसर ब्रॉड के हेलमेट में घुस गई तथा नाक और आंख पर उन्हें गंभीर चोटें आईं, जिसके कारण उन्हें अस्पताल में इलाज करवाना पड़ा.

 

समाचार चैनल बीबीसी ने बुधवार को ब्रॉड के हवाले से कहा, "मुझे अभी भी उसके बुरे सपने आते हैं और मैं आज भी चेहरे पर गेंद लगने का सपना देखकर उठ बैठता हूं. यहां तक कि मुझे अपने चारों ओर गेंद उड़ती दिखाई देती है. मैं इससे थक गया हूं."

 

ब्रॉड ने यह भी स्वीकार किया कि वह इससे उबरने के लिए एक मनोचिकित्सक की सेवाएं ले रहे हैं तथा इस घटना के कारण उनका खेल प्रभावित हुआ है.

 

गौरतलब है कि ब्रॉड विश्व कप-2015 में अब तक चार मैचों में सिर्फ दो विकेट हासिल कर सके हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story 5 विकेट चटकाने के बाद भुवनेश्वर ने बताया दौरे पर टीम की सफलता का राज़