साउथ अफ्रीका की रणनीति से हैरान हुई टीम इंडिया

By: | Last Updated: Sunday, 6 December 2015 1:56 PM

नई दिल्ली: टीम इंडिया के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने चौथे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच के चौथे दिन अफ्रीकी बल्लेबाजों की बेहद रक्षात्मक रणनीति पर हैरानी व्यक्त की. लेकिन उन्हें याद दिलाया कि केवल गेंदों को रोकने से कोई पूरे पांचवें दिन नहीं टिके रह सकता है. यादव से पूछा गया कि क्या साउथ अफ्रीका का 72 ओवरों में 72 रन बनाने से वह हैरान हैं, उन्होंने कहा, ‘‘हां यह हैरान करने वाला है क्योंकि हमने नहीं सोचा था कि वे ऐसी बल्लेबाजी करेंगे. जिस तरह से उन्होंने रक्षात्मक रवैया अपनाया और यहां तक कि शॉट खेलने की कोशिश भी नहीं की, वह हैरान करने वाला है. यहां तक जिन गेंदों पर वे रन बना सकते थे उन्हें भी उन्होंने रक्षात्मक रूप से खेला.’’

 

यादव ने स्वीकार किया कि जब बल्लेबाज आक्रमण के लिये तैयार नहीं हो तो गेंदबाजों के लिये यह चुनौती बन सकती है. उन्होंने कहा, ‘‘हां जब बल्लेबाज शॉट नहीं खेलता तो यह चुनौती बन जाती है क्योंकि मौके कम बनते हैं. जब बल्लेबाज शॉट खेलने का प्रयास नहीं करता है तो तब यदि आप अच्छी गेंद भी करो तो वह केवल उसे रोकता है. मैं आपसे यही कह सकता हूं कि इस तरह की क्रिकेट बेहद बोरियत भरी होती है क्योंकि आप ओवर दर ओवर गेंदबाजी कर रहे होते हो और कुछ भी नहीं होता है. ’’

 

विजय हजारे ट्रॉफी के साथ वापसी को तैयार हैं शमी

 

चीन मे मैराथन के दौरान धावक की मौत 

 

यादव ने कहा, ‘‘यह बोरियत भरा बन जाता है क्योंकि आप यह सोचने लगते हो कि क्या कुछ होने वाला है या नहीं. ’’ हाशिम अमला ने अभी 207 गेंदों पर 23 रन बनाये है. टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में यह दूसरा अवसर है जबकि किसी बल्लेबाज ने 200 गेंदों पर इतने कम रन बनाये.

 

यादव ने कहा कि साउथ अफ्रीकी टीम कल पूरे दिन रक्षात्मक तरीके से खेलकर मैच नहीं बचा सकती है. उन्होंने कहा, ‘‘हां उन पर दबाव है और इसलिए वे हर गेंद को रोक रहे हैं और खेल को लंबा खींचना चाहते हैं. हमारा पहला लक्ष्य कल सुबह उन्हें जल्द से जल्द आउट करना होगा. इसलिए मुझे नहीं लगता कि वे कोई कैच दिये बिना पूरे दिन तक टिके रहें. ’’

 

शतक के साथ एलीट क्लब में शामिल हुए रहाणे

 

मुरली विजय पर आईसीसी ने लगाया जुर्माना 

 

यादव ने कहा, ‘‘क्या पता कल विकेट का मिजाज बदल जाए. आज भी उन्होंने कैच दिये लेकिन भाग्य उनके साथ था क्योंकि कैच क्षेत्ररक्षकों के बजाय खाली स्थान पर गये.’’ इस तेज गेंदबाज ने कहा कि फॉलो ऑन नहीं देने के पीछे का कारण मेहमान टीम को मैच से पूरी तरह से बाहर करना था. उन्होंने कहा, ‘‘हमने यह रणनीति अपनायी. हम रन बनाकर लक्ष्य देना चाहते थे ताकि टीम सहज होकर खेल सके और फिर हम आक्रामक रवैया अपनाएंगे. हमने सोचा था कि पहले घंटे में हम जितना अधिक स्कोर करेंगे वह हमारे लिये अच्छा होगा. ’’

 

3 साल बाद राज्यसभा में सचिन ने पूछा पहला सवाल

 

अश्विन ने तोड़ा 55 साल पुराना रिकॉर्ड 

 

यादव ने कहा, ‘‘और हमने उस पहले घंटे में रन बनाये. आम तौर पर मुझे नहीं लगता कि हमें उन्हें आउट करने में परेशानी होनी चाहिए थी क्योंकि बहुत अधिक समय बचा हुआ था. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप किसी भी पिच को देख लो, तीसरे और चौथे दिन के बाद वह धीमी पड़ जाती है. आपको विकेट से जरूरी तेजी और उछाल नहीं मिलती है. इस विकेट के साथ भी यही हो रहा है क्योंकि उसकी तेजी खत्म हो चुकी है. यहां तक कि यदि आप बाउंसर करते हो तब भी आपको को मनमाफिक तेजी नहीं मिलती है. ’’ यहां तक कि यादव और इशांत शर्मा ने राउंड द विकेट गेंदबाजी की ताकि स्पिनरों के लिये विकेट में खुरदुरापन तैयार किया जा सके. उन्होंने कहा, ‘‘हां हमने कुछ ऐसे हिस्से तैयार करने की कोशिश की थी जिससे स्पिनरों को मदद मिले. ’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Surprising strategy but will be tough for SA to survive: Yadav
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017