पहले ही जंग में ढेर हो गए टीम इंडिया के शेर

By: | Last Updated: Sunday, 18 January 2015 3:01 PM

नई दिल्लीः विश्व विजेता टीम इंडिया के ऊपर अपने विश्व कप खिताब को बचाने का दवाब है. लेकिन इस खिताब को बचाने वाले उनके धुरंधर अपने पहले ही परीक्षा में ढ़ेर हो गए. ऑस्ट्रेलिया में खेले जा रहे ट्राई सीरीज के अपने पहले ही मैच में ऑस्ट्रेलिया के हाथों चार विकेट की हार मिली है. मेलबर्न के मैदान पर हालंकि एक समय मैच काफी रोमांचक होता दिख रहा था लेकिन अंत में एक ओवर पहले ही ऑस्ट्रेलिया ने मैच को अपने नाम कर लिया.

 

मैच हारने के पीछे पांच मुख्य वजहें वो रही जिससे टीम इंडिया लगातार हारती रही है.य

 

रोहित-रैना के अलावा बल्लेबाज हुए फ्लॉप-

भारत को पहले ही ओवर में शिखर धवन के रूप में झटका लगा. टेस्ट में फ्लॉप रहने वाले धवन वनडे में भी फ्लॉप दिखे. अजिंक्य रहाणे के बल्ले से भी 12 रन ही निकले. जबकि बेहतरीन फॉर्म में चल रहे विराट कोहली भी सिर्फ नौ रन बनाने के बाद पवेलियन लौट गए. टीम इंडिया के तरफ से सिर्फ रोहित शर्मा और रैन ही पन बना पाए. जहां रोहित ने शानदार 138 रन बनाए वहीं रैना ने 51 रन की पारी खेली. रैना और रोहित ने चौथे विकेट के लिए 126 रन की साझेदारी की. इसके अलावा कोई भी बल्लेबाज रन नहीं बना पाया.

 

कम रह गए रन-

टीम इंडिया ने जहां शुरूआती ओवरों में विकेट गंवाए वहीं अंतिम ओवरों में जब तेज रन बनाने की जरूरत थी तो उनके बल्लेबाज पवेलियन लौटते नजर आए. एक समय 300 के आस-पास पहुंचती दिख रही टीम इंडिया 267 रन तक ही पहुंच पाई.

 

 

धोनी नहीं दिखा पाए कमाल –

टीम इंडिया के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी जिन्हें अंतिम के ओवरों में रन बनाने के जाने जाता है इस मैच में कमाल नहीं दिखा पाए. रोहित शर्मा थके नजर आ रहे थे और स्कोर आगे बढ़ाने का प्रेशर था लेकिन धोनी 31 गेंद पर 19 रन ही बना पाए. उनके आउट होती ही टीम इंडिया का लोअर ऑर्डर ओपने हो गया और ऑस्ट्रेलिया ने वापसी कर ली.

 

40 ओवर में ही मैच हाथ से निकली-

टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी इस बात को माना कि उनकी टीम शुरूआती ओवरों में ही राह से भटक गई थी जब नई गेंद के गेंदबाज प्रभावी गेंदबाजी करने में विफल रहे. भारतीय गेंदबाज ऑस्ट्रेलिया बल्लेबाजों का काट अभी तक नहीं ढ़ूंढ पाए हैं.

 

 

मंहगे साबित हुए उमेश-अश्विन

तेज गेंदबाज उमेश यादव और स्पिनर आर अश्विन ने जमकर रन दिए. जिससे दूसरे गेंदबाज भी लय खोते नजर आए. यादव ने वापसी तो कि लेकिन मंहगी वापसी उन्होंने 10 ओवर में एक मेडन रखा और 55 रन दिए. हालांकि उन्होंने 2 विकेट भी लिए लेकिन रन नहीं रोक पाए. वहीं टीम इंडिया के इकलौते विशेषज्ञ फिरकीबाज अश्विन 9 ओवर में 54 रन लूटा दिए.

 

ऐसे में विश्व कप से पहले ये सवाल उठने लाजिमी हो गए हैं कि क्या भारत इस टीम के सहारे अपने विश्व कप के खिताब को बचा पाएगी.    

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: team india
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017