विदेशी दौरों के तनाव से निकल चुकी है टीम इंडिया: विराट कोहली

विदेशी दौरों के तनाव से निकल चुकी है टीम इंडिया: विराट कोहली

साउथ अफ्रीका दौरे पर रवाना होने से पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि किसी को कुछ साबित नहीं करना है. भारत ने पिछले 25 साल में साउथ अफ्रीका में एक भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है जिसकी शुरूआत 1992 से हुई.

By: | Updated: 28 Dec 2017 05:15 PM

मुंबई: साउथ अफ्रीका दौरे पर रवाना होने से पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि किसी को कुछ साबित नहीं करना है. भारत ने पिछले 25 साल में साउथ अफ्रीका में एक भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है जिसकी शुरूआत 1992 से हुई.

कोहली ने टीम की रवानगी से पहले कहा ,‘‘ हमने विदेश दौरे और लोगों को कुछ साबित करने के तमाम मानसिक तनावों से पार पा लिया है. हमें किसी को कुछ साबित नहीं करना है और हमारा काम वहां जाकर अपना शत प्रतिशत देना है ताकि मनचाहे नतीजे मिल सकें .’’ कप्तान ने कहा कि सभी को यथार्थवादी होना चाहिये कि कई बार टीम जीतेगी और कई बार नहीं.

उन्होंने कहा ,‘‘ हमें यथार्थवादी होना पड़ेगा. वर्तमान में जीते हुए अपनी रणनीति पर अमल करना होगा. हम वहां क्रिकेट खेलने जा रहे हैं और इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि साउथ अफ्रीका में हैं, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड या भारत में .’’

साउथ अफ्रीका की उछाल भरी पिचों पर भारत ने सिर्फ दो टेस्ट जीते हैं. सबसे अच्छा नतीजा 2010-11 में मिला था जब भारत ने 1-1 से ड्रॉ खेला था .’’

कोहली ने कहा ,‘‘ यह इस पर निर्भर करता है कि बतौर बल्लेबाज आप किस मानसिकता से खेलते हैं. भारतीय हालात में भी कठिनाई हो सकती है. क्रिकेट बल्ले और गेंद से खेला जाता है और यदि आप मानसिक रूप से वहां नहीं हैं तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि किन हालात में खेल रहे हैं .’’

कोहली ने कहा ,‘‘ आपको चुनौतियों का मानसिक रूप से सामना करना पड़ेगा और फिर हर हालात घरेलू हालात जैसे लगेंगे. अगर आप जहां खेल रहे हैं, वहां के अनुकूल खुद को ढाल लेते हैं तो सहज महसूस करने लगेंगे. लोगों और संस्कृति को अपनाकर बेहतर लगने लगेगा.’’ जोहानिसबर्ग में 2013-14 के दौरे पर कोहली ने शतक जड़ा था और इसका श्रेय वह चुनौती का सामना करने के जीवट को देते हैं.

उन्होंने कहा ,‘‘ मैने साउथ अफ्रीका में एक ही बार टेस्ट क्रिकेट खेला था लेकिन मुझे इसका इंतजार है . चेतेश्वर पुजारा ने भी वहां खेला है और अजिंक्य रहाणे ने भी . हमने अच्छा प्रदर्शन किया क्योंकि हम चुनौती का सामना करने को लेकर रोमांचित थे .’’उन्होंने स्वीकार किया कि उपमहाद्वीप के बाहर पिछले कुछ अर्से में वे ज्यादा नहीं खेल सके हैं लेकिन मौजूदा खिलाड़ियों को अच्छे प्रदर्शन का यकीन है .

उन्होंने कहा ,‘‘ हर दौरा एक मौका होता है. अगर आप उन टीमों को देखें जो अतीत में साउथ अफ्रीका गई हैं तो आप भारतीय क्रिकेट के कुछ बड़े नामों की बात करेंगे. ऐसा नहीं है कि वह मौका नहीं था. आपको सीरीज जीतने के लिये लंबे समय में अच्छा खेलना होता है और हम यही करने जा रहे हैं . ’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: विदेशी दौरों के तनाव से निकल चुकी है टीम इंडिया: विराट कोहली
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story MI vs SRH: मुंबई इंडियंस ने टॉस जीता,हैदराबाद को मैच से पहले लगा बड़ा झटका