भारत के इंग्लैंड दौरे पर नहीं लागू होगी डीआरएस प्रणाली

By: | Last Updated: Tuesday, 8 July 2014 7:32 PM

नॉटिंघम: भारत और इंग्लैंड के बीच बुधवार से शुरू हो रही पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला के दौरान खिलाड़ियों के पास अंपायरों द्वारा दिए गए निर्णयों की समीक्षा की मांग रखने का मौका नहीं रहेगा, क्योंकि इस श्रृंखला में डीआरएस प्रणाली को लागू नहीं किया गया है.

 

सभी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्पर्धाओं में डीआरएस प्रणाली लागू है, लेकिन द्विपक्षीय प्रतियोगिताओं में यह दोनों टीमों के बीच सहमति पर निर्भर करता है.

 

भारत शुरू से डीआरएस प्रणाली की आलोचना और विरोध करता आया है. अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के स्वरूप में हुए नए परिवर्तन के बाद दोनों देशों के बीच यह पहली श्रृंखला है.

 

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व स्पिन गेंदबाज एवं आईसीसी क्रिकेट समिति के सदस्य रवि शास्त्री ने कहा है कि ऐसी गलत धारणा है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) हमेशा से डीआरएस का विरोधी रहा है.

 

समाचार एजेंसी एसएपीए ने शास्त्री के हवाले से कहा, “यह एक मिथक है कि बीसीसीआई और भारत डीआरएस के विरोधी हैं. वास्तव में वे ऐसी प्रौद्योगिकी चाहते हैं जो हमेशा एक जैसा परिणाम दे.”

 

शास्त्री का मानना है कि खिलाड़ियों की बजाय फील्ड अंपायरों के निर्णय की समीक्षा तीसरे अंपायर के अधिकार क्षेत्र में होनी चाहिए.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Team India_England_DRS_Test Matches_Bcci_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017