एंडरसन को छोड़कर गलत संदेश दिया गया: द्रविड़

By: | Last Updated: Thursday, 7 August 2014 3:32 PM

मैनचेस्टर: पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ को रविंद्र जडेजा को धक्का देने के मामले में ‘दोषी नहीं’ करार दिये जाने के फैसले की कड़ी आलोचना की और कहा कि खेल के प्रशासकों ने इंग्लैंड के तेज गेंदबाज को सजा दिये बिना छोड़कर गलत संदेश दिया.

 

द्रविड़ ने कहा कि एंडरसन, जिन पर जडेजा को कथित तौर पर धक्का देने का आरोप है, को फटकार लगाकर चेतावनी दी जा सकती थी क्योंकि अंपायर ब्रूस ओक्सनफोर्ड की रिपोर्ट में अपशब्दों के उपयोग के बारे में स्पष्ट रूप से बताया गया है.

 

उन्होंने ईएसपीएनक्रिकइन्फो से कहा, ‘‘हमने जो संदेश दिया उससे लगता है कि इस खेल में यह : अपशब्द : चलता है जो कि गलत है. मेरा मानना है कि किसी तरह की कार्रवाई की जानी चाहिए थी. ’’

 

द्रविड़ ने कहा, ‘‘सजा दी जानी जरूरी थी. हम सभी ब्रूस ओक्सनफोर्ड की रिपोर्ट के बारे में जानते हैं जिसमें बताया गया है कि जिम्मी : एंडरसन : ने क्या कहा था. उसने किन शब्दों का उपयोग किया था. यह रिपोर्ट में है और कोई इस सचाई का खंडन नहीं कर सकता कि अपशब्दों का उपयोग किया गया और इंग्लैंड दावा कर रहा है कि जडेजा ने जवाब दिया. हमें इस पर गौर करना चाहिए था लेकिन हमने आखिर में देखा कि किसी तरह की सजा नहीं दी गयी. ’’

 

धक्का देने की यह घटना ट्रेंटब्रिज में पहले टेस्ट मैच के दौरान घटी जब खिलाड़ी दूसरे दिन लंच के लिये पवेलियन लौट रहे थे.

 

द्रविड़ ने कहा कि यह सभी जानते हैं कि एंडरसन आक्रामक अंदाज में खेलना पसंद करता है लेकिन कुछ अवसरों पर वह सीमाएं लांघ लेता है. उन्होंने कहा, ‘‘वह : एंडरसन : ऐसा है जो खुद को प्रेरित करने के लिये आक्रामक होता है लेकिन समस्या यह है कि कभी कभी वह सीमा रेखा पार कर देता है. इस मामले में ऐसा था या नहीं हम वास्तव में कभी नहीं जान पाएंगे. ’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Team India_Rahul Dravid_Ravindra Jadeja_James Anderson_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017