BLUE15: ज़हीर जैसा खेले तो विश्व कप इतिहास में दर्ज हो जाएंगे मोहम्मद शमी

By: | Last Updated: Thursday, 12 February 2015 3:46 AM

नई दिल्ली: टीम इंडिया को विश्व कप खिताब अगर जीतना है तो उसके गेंदबाज़ों पर बहुत अधिक दारोमदार होगा, टीम इंडिया के गेंदबाज़ अगर अच्छा प्रदर्शन करते है तो साल 2011 को दोहराने से टीम इंडिया को कोई ताकत नहीं रोक सकती.

 

टीम इंडिया विश्वकप में 4 स्पेशलिस्ट तेज़ गेंदबाज़ और 2 सिपनर के साथ गई है. ये सभी 6 गेंदबाज़ टीम इंडिया की जीत में अहम भूमिका निभाएंगे. 

 

इसी कड़ी में हम आज एक ऐसे गेंदबाज़ की बात कर रहे हैं जिसने पिछले 2 साल में टीम इंडिया में अपनी जगह बनाई है और क्रिकेट एक्सपर्ट को उनके ऊपर बहुत अधिक भरोसा है.

 

एबीपी न्यूज़ अपनी खास कड़ी BLUE15 में आपके सामने वर्ल्ड कप में मौजूद टीम इंडिया के रणबांकुरो के क्रिकेट के आंकड़ों और उनके प्रदर्शन दिखाएगा. जिससे आपके सामने ये तस्वीर साफ हो सकती है कि टीम इंडिया का खिताब बचाने गए योद्धा वर्ल्ड कप में कैसा प्रदर्शन करेंगे और भारतीय टीम की विश्व कप की संभावना कितनी बनती है.

 

ज़हीर जैसा खेलो शमी: साल 2013 में टीम इंडिया के लिए डेब्यू करने वाले मोहम्मद शमी ने अपने पहले वनडे में पाकिस्तान टीम के खिलाफ बहुत ज्यादा विकेट तो हासिल नहीं की लेकिन उन्होनें 3 से भी कम के इकॉनोमी रेट से गेंदबाज़ी करके और 4 रिकॉर्ड मेडन ओवर डाल के टीम इंडिया में अपने आने का संकेत दे दिया था.

 

मोहम्मद शमी ने टीम इंडिया के लिए 40 वनडे मुकाबले खेल हैं जिसमें उन्होनें 26 के बेहद कामयाब औसत से 70 विकेट झटके हैं. शमी का बेस्ट बॉलिंग फिगर है 36 रन देकर 4 विकेट. शमी ने अपने 40 वनडे मैचों में 4 बार 4 विकेट झटके हैं.

 

शमी ने पिछले 2 साल में टीम इंडिया के लिए कई मौको पर अच्छी गेंदबाज़ी की है. शमी की सटीक लाईन और लेंग्थ उनका असली हथियार भी है.

 

लेकिन मोहम्मद शमी की कमजोरी है कि उन्हें ऑस्ट्रेलिया-न्यूज़ीलैंड की सरज़मीं पर खेलने का अनुभव थोड़ा कम है. विश्व-कप 2015 ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड में ही खेला जाना है. लेकिन टेस्ट में कप्तान ने भुवी पर भरोसा दिखाकर उन्हें ऑस्ट्रेलियाई धरती का थोड़ा अनुभव दिया है.

 

इंटरनेशनल क्रिकेट के अलावा मोहम्मद शमी ने 30 फर्स्ट-क्लास मैचों में 30.49 के औसत से 118 विकेट झटके हैं. वहीं आईपीएल में खेले 23 मैचों में उन्होनें 46 के औसत से 13 विकेट झटके हैं बनाए हैं. शमी अभी दिल्ली टीम का हिस्सा हैं.

 

मोहम्मद शमी अगर वर्ल्ड कप के मैचों में अच्छी गेंदबाज़ी करते हैं तो उनकी अच्छी लाईन और लेंग्थ ऑस्ट्रेलियाई पिचों पर भारत को विश्व कप दिलाने में अहम भूमिका निभा सकती है.

 

काबिलियत: दाएं हाथ के बंगाल के इस गेंदबाज़ की काबिलियत देश का हर क्रिकेट प्रेमी अच्छे से जानता है. शुरूआती और अंतिम ओवरों में बेहद किफायती गेंदबाज़ी करने वाले शमी अगर वर्ल्ड कप में ऐसा करते हैं तो टीम के लिए फायदेमंद साबित होंगे. उमेश यादव औऱ भुवनेश्वर कुमार के साथ मिलकर शमी टीम इंडिया की गेंदबाज़ी को मजबूत कर सकते हैं. शमी गेंदबाज़ी के साथ-साथ निचले क्रम में अच्छी बल्लेबाजी भी कर सकते हैं.

 

यह भी पढ़ें:

BLUE 15: फिल्मी स्क्रिप्ट जैसी है मोहित की वर्ल्ड कप टीम में एंट्री

BLUE 15: अनुभवी रविंद्र जडेजा से हैं वर्ल्ड कप में टीम इंडिया को उम्मीदें 

Captain vs Pakistan: हाई प्रेशर मैच में कैप्टन कूल पर होगी टीम इंडिया की ज़िम्मेदारी 

BLUE 15: अगर युवराज जैसा खेले तो इतिहास में दर्ज होगा अक्षर पटेल का नाम

BLUE15: ओपनिंग के लिए वर्ल्ड कप में बेहतर विकल्प होंगे रहाणे! 

1983 और 2003 की टीमों जैसी है 2015 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की बॉलिंग 

BLUE 15: भुवनेश्वर कुमार की स्विंग से हैं वर्ल्ड कप में टीम को उम्मीदें 

WORLD CUP: इन रिकॉर्ड्स को तोड़ा तो क्रिकेट इतिहास हमेशा याद रखेगा 

BLUE 15: वर्ल्ड कप में अंबाती रायडू पर कप्तान धोनी दिखा सकते हैं भरोसा

BLUE 15: उमेश यादव के कंधों पर होगा तेज़ गेंदबाज़ी का दारोमदार 

BLUE 15: विश्व कप में टीम इंडिया के लिए किफायती साबित हो सकते हैं स्टुअर्ट बिन्नी

 

 

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Team India_World Cup 2015_Mohammad Shami_Blue 15_Australia_NewZealand_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017