Team India_World Cup 2015_Sachin Tendulkar_Unbreakable Records_

Team India_World Cup 2015_Sachin Tendulkar_Unbreakable Records_

By: | Updated: 08 Feb 2015 08:20 AM

नई दिल्ली: पिछले छह विश्व कप में भारतीय टीम का अहम हिस्सा रहे सचिन तेंदुलकर पहली बार इस क्रिकेट महाकुंभ में नहीं दिखेंगे लेकिन इसके बावजूद हर चार साल में होने वाले इस टूर्नामेंट में मास्टर ब्लास्टर के कई रिकार्ड अछूते रहेंगे.

 

# तेंदुलकर ने 1992 से 2011 तक लगातार छह विश्व कप में हिस्सा लिया, जिसमें उन्होंने 45 मैच की 44 पारियों में 56.95 की औसत से 2278 रन बनाये जो कि इस टूर्नामेंट का रिकॉर्ड है. यह सुनिश्चित है कि उनका यह रिकॉर्ड इस बार अछूता रहेगा.

 

विश्व कप में तेंदुलकर के बाद सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग का नाम आता है जो इस भारतीय की तरह क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं. पोंटिंग ने 46 मैचों में 1743 रन बनाये हैं. आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में 14 फरवरी से शुरू होने वाले विश्व कप में जो खिलाड़ी खेलेंगे उनमें कुमार संगकारा के नाम पर सर्वाधिक 991 रन दर्ज हैं. उनके बाद श्रीलंका के ही एक अन्य बल्लेबाज माहेला जयवर्धने (975 रन)  का नंबर आता है.

 

संगकारा को तेंदुलकर की बराबरी पर पहुंचने के लिये 1287 और जयवर्धने को 1303 रनों की जरूरत पड़ेगी जो कि असंभव लगता है.

 

# किसी एक विश्व कप में सर्वाधिक रन का रिकॉर्ड तेंदुलकर के नाम पर ही है. उन्होंने 2003 में 11 मैचों में 673 रन बनाये थे.

 

# तेंदुलकर का किसी एक देश में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी बना रहेगा. उन्होंने भारतीय सरजमीं पर 15 मैचों में 977 रन बनाये हैं. वर्तमान समय के किसी भी खिलाड़ी ने अभी तक आस्ट्रेलिया या न्यूजीलैंड में विश्व कप मैच नहीं खेला है.

 

# अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक जड़ने वाले तेंदुलकर ने विश्व कप में रिकॉर्ड छह सैकड़े लगाये हैं. वर्तमान के बल्लेबाजों में एबी डिविलियर्स और जयवर्धने के नाम पर तीन-तीन शतक दर्ज हैं. ये दोनों बल्लेबाज अच्छी फॉर्म में हैं और ऐसे में उनकी निगाह तेंदुलकर के सर्वाधिक शतकों के रिकार्ड पर रहेगी.

 

# लेकिन तेंदुलकर के अर्धशतकों के रिकार्ड तक पहुंचना किसी के लिये मुश्किल होगा. इस स्टार बल्लेबाज ने 50 ओवरों की इस प्रतियोगिता में 15 अर्धशतक लगाये हैं. उनके बाद जाक कैलिस (नौ अर्धशतक) का नंबर आता है जो संन्यास ले चुके हैं. विश्व कप में भाग ले रहे खिलाड़ियों में संगकारा सात अर्धशतक के साथ शीर्ष पर हैं.

 

# विश्व कप में सर्वाधिक छक्के जड़ने का रिकॉर्ड रिकी पोंटिंग के नाम पर है. उन्होंने 31 छक्के लगाये हैं. उनके बाद हर्शल गिब्स(28), तेंदुलकर और जयसूर्या(27) का नंबर आता है.

 

# लेकिन चौकों के मामले में तेंदुलकर नंबर एक हैं. उन्होंने छह विश्व कप में रिकॉर्ड 241 चौके लगाये हैं. तेंदुलकर के बाद पोंटिंग(145) और एडम गिलक्रिस्ट(141) का नंबर है. वर्तमान बल्लेबाजों में जयवर्धने और संगकारा दोनों ने समान 90 चौके लगाये हैं. तेंदुलकर के रिकॉर्ड तक पहुंचने के लिये उन्हें 151 चौके लगाने होंगे.

 

# रिकार्ड के लिये बता दें कि किसी एक विश्व कप में सर्वाधिक 75 चौके लगे थे. तेंदुलकर ने यह कारनामा 2003 में अफ्रीकी महाद्वीप में खेले गये विश्व कप में किया था.

 

विश्व कप उदघाटन मैच 14 फरवरी को श्रीलंका और न्यूजीलैंड के बीच खेला जाएगा और तब संगकारा 91 रन बनाते ही रिकॉर्ड बना देंगे. डिविलियर्स भी वेस्टइंडीज के खिलाफ 102 रन बनाने पर तेंदुलकर के इस रिकॉर्ड तक पहुंचे जाएंगे. दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज 27 फरवरी को सिडनी में आमने सामने होंगे.

 

# विश्व कप में सर्वाधिक गेंदों का सामना करने और सर्वाधिक मिनट क्रीज पर बिताने का रिकार्ड भी तेंदुलकर के नाम पर है. उन्होंने विश्व कप में 2560 गेंदों का सामना किया है. उनके अलावा केवल एक अन्य बल्लेबाज 2000 से अधिक गेंदों का सामना कर पाया. वह पोंटिंग (2180 गेंदें) हैं. संगकारा और जयवर्धने इस रिकॉर्ड में वर्तमान समय के बल्लेबाजों की अगुवाई करते हैं.

 

उन्होंने क्रमश: 1259 और 1112 गेंदें खेली हैं. संगकारा को तेंदुलकर के रिकॉर्ड तक पहुंचने के लिये 1301 और जयवर्धने को 1448 गेंद खेलनी होंगी.

 

क्रीज पर सबसे अधिक समय बिताने की बात करें तो तेंदुलकर ने विश्व कप में 3641 मिनट बल्लेबाजी की. पोंटिंग (2899 मिनट) दूसरे स्थान पर हैं जबकि वर्तमान समय में संगकारा (1908 मिनट) सबसे उपर हैं. तेंदुलकर से यह श्रीलंकाई बल्लेबाज 1733 मिनट पीछे है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story कप्तानी छोड़ने के बाद अपने खिलाड़ियों पर ज्यादा भड़के हैं धोनी