आत्मविश्वास से 2003 विश्व कप फाइनल में भारत को हराने में मदद मिली: मार्टिन

By: | Last Updated: Sunday, 1 February 2015 7:14 AM
Team India_World Cup 2015_World Cup 2003_Australia_Damien Martin_

पर्थ: विश्व कप फाइनल के सफर तक भारत के अच्छे प्रदर्शन के बावजूद पूर्व बल्लेबाज डेमियन मार्टिन ने कहा है कि यह आस्ट्रेलिया का ‘आत्मविश्वास’ था जिसने खिताबी मुकाबले में सौरव गांगुली की अगुआई वाली टीम को हराने में मदद की.

 

टास हारकर बल्लेबाजी करने उतरी गत चैम्पियन आस्ट्रेलियाई टीम ने रिकी पोटिंग :140: और मार्टिन :88: के बीच तीसरे विकेट की 234 रन की नाबाद साझेदारी की मदद से 359 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया और फिर भारत को 39 . 2 ओवर में 234 रन पर ढेर कर दिया.

 

मध्यक्रम के पूर्व बल्लेबाज मार्टिन ने ‘बीसीसीआई.टीवी’ से कहा, ‘‘सभी रोमांचित थे और टीम में फाइनल को लेकर काफी उर्जा थी. यह अच्छा विकेट, अच्छी आउटफील्ड और अच्छे दर्शक थे. हमने अच्छी बल्लेबाजी की और बड़ा स्कोर खड़ा किया. यह स्कोर खड़ा करने के बाद हमें पता था कि भारत दबाव में होगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें अपने उपर विश्वास था कि हम भारत को हरा सकते हैं और पहली पारी में बड़ा स्कोर खड़ा करने के बाद हमने काम को आधा अंजाम दे दिया था.’’ आस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ ग्लेन मैकग्रा :53 रन पर तीन विकेट: ने सचिन तेंदुलकर :04: का बेशकीमती विकेट हासिल किया. वीरेंद्र सहवाग :82: और राहुल द्रविड़ :47: ने कुछ देर संघर्ष किया लेकिन आस्ट्रेलियाई टीम मैच में हावी रही और इसे आसानी से जीतने में सफल रही.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Team India_World Cup 2015_World Cup 2003_Australia_Damien Martin_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017