टीम से बाहर होने के बाद बेहतर बनें जडेजा: अरूण

By: | Last Updated: Sunday, 15 November 2015 12:20 PM
Time away from team made Jadeja reflect on his game: Arun

बेंगलुरू: भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरूण का मानना है कि राष्ट्रीय टीम से कुछ महीने के लिये बाहर होने पर बायें हाथ के स्पिनर रविंद्र जडेजा को अपने खेल को समझने और उसमें सुधार करने का मौका मिला जिसका अब उन्हें फायदा मिल रहा है. जडेजा ने अब तक टीम के स्पिन विभाग के अगुआ रविचंद्रन अश्विन का अच्छा साथ दिया है. इन दोनों ने अब तक साउथ अफ्रीका के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 12-12 विकेट लिये हैं.

 

अरूण ने दूसरे दिन का खेल बारिश की भेंट चढ़ जाने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘मेरा मानना है कि उसे यह जानने के लिये समय मिला कि उसे किन विभागों में सुधार करना है. रणजी ट्रॉफी में उसके प्रदर्शन (सौराष्ट्र की तरफ से 30 से अधिक विकेट) से भी उसका काफी आत्मविश्वास बढ़ा. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसके साथ ही जडेजा हमारा ‘बैंकर’ गेंदबाज है. आप किसी भी प्रारूप में खेलो चाहे वह टेस्ट हो या वनडे. वह अपने फायदे के लिये अपने मजबूत पक्षों का उपयोग करना जानता है. ’’

 

जडेजा ने जहां अपने खेल का आकलन किया वहीं कोच ने कहा कि भुवनेश्वर कुमार को ‘गेंद अधिक स्विंग कराने की जरूरत’ है हालांकि उन्हें खुशी है कि वह पहले की तुलना में अधिक तेजी से गेंद कर रहे हैं.

 

अरूण ने रणजी ट्रॉफी खेलने के लिये भेजे गये उत्तर प्रदेश के तेज गेंदबाज के बारे में कहा, ‘‘भुवनेश्वर कुमार की बात करें तो वह 140 किमी से अधिक की रफ्तार से गेंद कर सकता है और उसे स्विंग भी करा सकता है. भुवी का मजबूत पक्ष उसकी स्विंग है. उसने अपनी तेजी कुछ बढ़ायी है लेकिन उसे लगातार अधिक स्विंग करने की जरूरत है और लगातार काम करने से वह इसमें सफल भी हो जाएगा.’’कई वर्षों तक राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी से जुड़े रहे अरूण का मानना है कि देश में तेज गेंदबाजों का अच्छा रिजर्व पूल है लेकिन उन्हें सही मार्गदर्शन की जरूरत है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘अभी किसी के नाम का जिक्र करना अनुचित होगा लेकिन हमारे पास गेंदबाजों का अच्छा पूल है. हमें उनकी क्षमता के अनुसार उन्हें गाइड करने की जरूरत है. ’’ ईशांत के एक्शन में बदलाव के बाद सुधार के बारे में अरूण ने कहा कि असल में दिल्ली का यह तेज गेंदबाज अब सही कोण से गेंदबाजी कर रहा है जिससे उसे सफलता मिल रही है. उन्होंने कहा, ‘‘ईमानदारी से कहूं तो उनके एक्शन में बहुत खास बदलाव नहीं किया गया. हमने उन्हें उनके गेंद करने के कोण से अवगत कराया और बताया कि कौन से कोण से गेंद करने पर उन्हें सफलता मिल सकती है. एक बार यह जानने के बाद वे अपने कौशल का बेहतर इस्तेमाल कर सकते हैं. ’’

 

इस पूर्व भारतीय मध्यम गति के गेंदबाज से पूछा गया कि क्या टर्निंग विकेट तैयार करने से भारत में तेज गेंदबाजों के विकास में बाधा उत्पन्न होगी, उन्होंने कहा, ‘‘मैं इससे सहमत नहीं हूं. हमारे पास भारत में अच्छे तेज गेंदबाज हैं. हमारे पास अभी चार ऐसे गेंदबाज हैं जो लगातार 140 किमी से अधिक की रफ्तार से गेंदबाजी कर सकते हैं. हम ऐसे विकेटों पर खेलना पसंद करते हैं जो हमारी टीम की रणनीतियों के अनुकूल हों. यह (चिन्नास्वामी) स्पिनरों का मददगार विकेट नहीं है बल्कि यह अच्छा विकेट है. ’’

 

मैच में एक दिन का खेल बारिश की भेंट चढ़ जाने के बारे में अरूण ने कहा, ‘‘अभी इस टेस्ट मैच में काफी समय बचा है. हम बल्लेबाजी में सत्र दर सत्र पर ध्यान देंगे. हम अच्छा स्कोर खड़ा करके अपना पलड़ा भारी करना चाहेंगे. ’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Time away from team made Jadeja reflect on his game: Arun
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017