क्रोएशिया के मैरिन चिलिच ने जीता यूएस ओपन, जापान के केई निशिकोरी को हराकर जीता पहला ग्रैंड स्लैम

By: | Last Updated: Tuesday, 9 September 2014 8:08 AM
us_open_winner

नई दिल्ली: मैरिन चिलिच ने कल यहां लगातार सेटों में जीत दर्ज करके यूएस ओपन का नया बादशाह बनने के साथ ही जापान के केई निशिकोरी का ग्रैंडस्लैम जीतने वाला पहला एशियाई खिलाड़ी बनने का सपना चकनाचूर कर दिया. क्रोएशिया के 14वीं वरीय चिलिच ने पुरूष एकल के फाइनल में निशिकोरी को 6-3, 6-3, 6-3 से हराकर अपना पहला ग्रैंडस्लैम खिताब जीता. वह गोरान इवानिसेविच के बाद ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाले पहले क्रोएशियाई खिलाड़ी भी बन गये हैं.

 

इवानिसेविच ने 2001 में विंबलडन खिताब जीता था और अब वह सिलिच के कोच हैं. सिलिच को 12 महीने पहले विवादास्पद डोपिंग प्रतिबंध के कारण यूएस ओपन से हटना पड़ा था. लेकिन वह फाइनल में जीत के हकदार थे. उन्होंने नौ ब्रेक प्वाइंट बचाये, 17 ऐस और 38 विनर्स लगाये तथा निशिकोरी को कोई मौका नहीं दिया जिन्होंने फाइनल में पहुंचने से पहले मिलोस राओनिच, स्टैन वावरिंका और विश्व के नंबर एक खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को हराया था. सोमवार को खेला गया फाइनल 2005 के आस्ट्रेलियाई ओपन के बाद ग्रैंडस्लैम में पहला खिताबी मुकाबला था जिसमें जोकोविच, रोजर फेडरर और राफेल नडाल में से कोई नहीं खेला. यह 5 फीट 10 इंच लंबे और 68 किग्रा वजन के निशिकोरी तथा 6 फीट 6 इंच लंबे और 82 किग्रा वजन के चिलिच के बीच विपरीत शैली का मुकाबला था. सिलिच सेमीफाइनल में फेडरर को हराकर यहां पहुंचे थे.

 

बादल छाये हुए थे तथा गर्मी और उमस के कारण भी चर्चा में रहे टूर्नामेंट में पिछले दो सप्ताह में सबसे ठंडा दिन था लेकिन आर्थर ऐस स्टेडियम में फाइनल देखने के लिये आधे दर्शक ही पहुंचे हुए थे. चिलिच ने पहले गेम में ब्रेक प्वाइंट बचाया और इसके बाद उन्होंने दबदबा बनाये रखा. चिलिच ने ब्रेक प्वाइंट लेकर 4-2 से बढ़त बनायी और फिर 33 मिनट में पहला सेट अपने नाम किया. निशिकोरी रक्षात्मक होकर खेल रहे थे और सिलिच ने उन्हें बेसलाइन से आगे नहीं बढ़ने दिया.

लंबे कद के क्रोएशियाई खिलाड़ी ने 11 विनर्स लगाये जबकि जापानी खिलाड़ी केवल दो विनर्स ही लगा पाये. दसवीं वरीय निशिकोरी ने चौथे दौर में राओनिक और क्वार्टर फाइनल में वावरिंका के खिलाफ भी पहला सेट गंवाया था लेकिन वह वापसी करने में सफल रहे थे लेकिन चिलिच ने उन्हें मौका नहीं दिया. उन्होंने दूसरे सेट के तीसरे गेम में ब्रेक प्वाइंट लिया. इसके बाद निशिकोरी दो ब्रेक प्वाइंट लेने में नाकाम रहे जिससे चिलिच 3-1 से आगे हो गये. निशिकोरी के 2011 में कोच रहे ब्रैड गिलबर्ट ने ट्वीट किया, ‘‘केई बहुत अधिक रक्षात्मक हो गया विशेषकर अपने बैकहैंड के मामले में. ’’

 

चौबीस वर्षीय जापानी खिलाड़ी ने फिर से अपना बैकहैंड बाहर लगाया जिससे वह 1-3 से पिछड़ गये. चिलिच ने तीन और ब्रेक प्वाइंट बचाये और 5-2 की बढ़त हासिल कर ली. निशिकोरी ने अपनी सर्विस बचायी लेकिन चिलिच को इसके बाद तीन मैच प्वाइंट मिले. उन्होंने पहले में डबल फाल्ट किया लेकिन आखिर में खूबसूरत बैकहैंड क्रासकोर्ट से एक घंटे 54 मिनट तक चले मैच को जीतने में सफल रहे. निशिकोरी ने स्वीकार किया कि चिलिच ने उन्हें खेल के हर विभाग में हराया. उन्होंने कहा, ‘‘मैरिन आज वास्तव में बहुत अच्छा खेले. मैं अपनी अच्छी टेनिस नहीं खेल पाया. यह कड़ी हार थी लेकिन मैं पहली बार फाइनल में पहुंचकर खुश हूं. मैं अगली बार ट्राफी हासिल करूंगा. ’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: us_open_winner
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

शमी ने कहा, 'शानदार प्रदर्शन और लय को आगे भी रखेंगे जारी'
शमी ने कहा, 'शानदार प्रदर्शन और लय को आगे भी रखेंगे जारी'

कोलकाता: श्रीलंका के खिलाफ 3-0 के ऐतिहासिक क्लीनस्वीप से उत्साहित तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने...

इंग्लैंड के खिलाफ इंडिया अंडर-19 टीम ने 5-0 से क्लीनस्वीप कर रचा इतिहास
इंग्लैंड के खिलाफ इंडिया अंडर-19 टीम ने 5-0 से क्लीनस्वीप कर रचा इतिहास

नई दिल्ली: भारत की अंडर-19 टीम ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए पांचवें और अंतिम युवा...

वेस्टइंडीज के खिलाफ इंग्लैंड टीम ने किया सिर्फ एक बदलाव
वेस्टइंडीज के खिलाफ इंग्लैंड टीम ने किया सिर्फ एक बदलाव

बर्मिंघम: वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो रहे...

...तो इस वजह से वनडे टीम में युवराज को नहीं मिली जगह!
...तो इस वजह से वनडे टीम में युवराज को नहीं मिली जगह!

नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017