एरोन के विश्वकप टीम में नहीं होने से निराश था: मैकग्रा

By: | Last Updated: Monday, 1 June 2015 12:16 PM

मुंबई: वरूण एरोन की गति से प्रभावित महान ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ग्लेन मैकग्रा ने कहा कि इस तेज गेंदबाज के विश्व कप टीम में शामिल नहीं किये जाने से वह निराश थे और उम्मीद कर रहे थे कि यह तेज गेंदबाज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लंबे समय तक रहेगा.

 

अपने करियर में 124 टेस्ट में 563 विकेट लेने वाले इस महान तेज गेंदबाज ने कहा एरोन और उमेश यादव को हमेशा भारतीय टीम का हिस्सा बनाया जाना चाहिए क्योंकि ये दोनों गेंदबाज 150 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी कर पाने में सक्षम हैं.

 

मैकग्रा ने कहा ‘‘वरूण एरोन के विश्व कप टीम में जगह नहीं बना पाने से मैं थोड़ा निराश था. वह बहुत अच्छी तेजी के साथ गेंदबाजी कर सकता है, गेंद को अच्छे से स्विंग करा सकता है, मुझे लगता है कि वह लंबे समय तक खेलेगा.

 

एक ऑस्ट्रेलियाई हार्डिस वाइन्स के ब्रांड एम्बेस्डर मैकग्रा यहां उसके एक भारतीय वितरक सुला सेलेक्शन के लिए आये थे.

 

मैकग्रा ने कहा ‘‘मैं एक ही टीम में एरोन और यादव को रखूंगा, ये दोनों 150 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी कर सकते हैं. अगर आप उस तेजी को बरकरार नहीं रख सकते हैं तो उसी अनुपात में क्षति होगी. मेरे ख्याल से यादव के लिए अच्छी श्रृंखला थी. उसने विश्व कप में बेहतर खेल दिखाया.’’ मैकग्रा ने कहा ‘‘दिशाहीनता उन चीजों में से एक केवल एक है. मैं उन खिलाड़ियों को देखना पसंद नहीं करता जो दिशा पर नियंत्रण के लिए अपनी गति कम कर देते हैं. स्पष्ट तौर पर आपको नियंत्रण चाहिए जिससे आप दबाव बना सकते हैं और विकेट हासिल कर सकते हैं लेकिन अगर आप नियंत्रण प्राप्त करने के लिए गति धीमी कर रहे हैं तो मैं इसका प्रशंसक नहीं हूं. इसके बदले मैं चाहूंगा कि गेंदबाज नियंत्रण प्राप्त करने के लिए नेट पर अधिक मेहनत करे.’’

 

उन्होंने कहा ‘‘मैं निरंतरता बनाने के लिए गेंदबाजों को नेट पर थोड़ा अधिक मेहनत करते देखना चाहूंगा. आपने देखा कि मिशेल जॉनसन ने ऑस्ट्रेलिया के लिए क्या किया. वह 150 की गति से गेंदबाजी कर रहा था और उसने गति में कमी नहीं की लेकिन उसने नियंत्रण हासिल कर लिया. उस गति के साथ जैसे ही उसने नियंत्रण हासिल किया वह और भी घातक हो गया.’’ टी20 क्रिकेट के विकास के साथ बल्लेबाजों ने कई नये शॉट इजाद किये हैं इसके बावजूद मैकग्रा को लगता है कि गेंदबाज अब भी अच्छे यॉर्कर फेंककर बल्लेबाजों पर नियंत्रण कर सकते हैं.

 

उन्होंने कहा ‘‘आपने मिशेल स्टार्क को विश्व कप में अच्छी यार्कर करते हुए देखा और वह प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट बना. लसिथ मलिंगा भी बहुत अच्छे यार्कर फेंकता है और टी20 जैसे छोटे प्रारूप में सफल है.’’

 

मैकग्रा के अनुसार ट्राई सीरीज में खराब खेल के बाद भारतीय टीम के गेंदबाजों ने विश्वकप में शानदार खेल का प्रदर्शन किया.

मैक्ग्रा ने कहा ‘‘उन्होंने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया. उन्होंने वनडे सीरीज में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया लेकिन उन्होंने जल्द ही खुद को उबार लिया और जल्दी विकेट लेकर दबाव में लाना शुरू कर दिया जो वे पहले नहीं कर पा रहे थे. गेंदबाज एक इकाई के रूप में विश्व कप में अच्छे थे.’’ इस तेज गेंदबाज ने उम्मीद जताई कि भारत की धरती पर 2016 में होने वाले टी20 विश्वकप में ऑस्ट्रेलिया अच्छा प्रदर्शन करेगा.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: varun aron
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017