वीवो ने थामा आईपीएल का हाथ

By: | Last Updated: Sunday, 18 October 2015 11:53 AM
VIVO Replaces PepsiCo as Indian Premier League Title Sponsor

मुंबई: मोबाइल कंपनी वीवो को आज पेप्सीको की जगह हाई प्रोफाइल इंडियन प्रीमियर लीग का नया टाइटिल स्पॉन्सर बनाया गया. पेप्सीको के 2017 में खत्म होने वाले पांच साल के करार के बीच से ही हटने पर यह कदम उठाना पड़ा.

 

वर्किंग कमिटी की बैठक में लिए गए फैसलों की घोषणा करते हुए बीसीसीआई ने बयान जारी करके कहा, ‘‘आईपीएल के टाइटिल स्पॉन्सर अधिकार मैसर्स वीवो मोबाइल्स को दिए गए हैं. वीवा को अगले 10 दिन में बैंक गारंटी देनी होगी.’’ पेप्सीको 2013 में पांच सीजन के लिए 396 करोड़ 80 लाख रूपये की बोली लगाकर आईपीएल का टाइटिल स्पॉन्सर बना था. पेप्सी से पहले डीएलएफ ने 2008 से 2012 तक के अधिकार हासिल करने के लिए 200 करोड़ रूपये दिए थे.

 

माना जा रहा है कि 2013 में खेल को झकझोरने वाले स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण के चलते पेप्सी ने आईपीएल के साथ अपना अनुबंध खत्म किया है.

 

कंपनी ने हालांकि कोई आधिकारिक कारण नहीं बताया है लेकिन पता चला है कि पेप्सीको को लगता है कि आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण ने आईपीएल की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाया है.

 

आईपीएल के 2013 सत्र में अंकित चव्हाण, अजित चंदीला और एस श्रीसंत को स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों में गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद चेन्नई सुपरकिंग्स के टीम प्रिंसिपल गुरूनाथ मयप्पन और राजस्थान रॉयल्स के सहमालिक राज कुंद्रा पर भी सट्टेबाजी में शामिल होने के आरोप लगे थे.

 

 

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: VIVO Replaces PepsiCo as Indian Premier League Title Sponsor
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: IPL Title Sponsor vivo
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017