कम नींद आने से जा सकती है नौकरी

By: | Last Updated: Monday, 4 August 2014 2:01 PM

वाशिंगटन, कम नींद लेने से सेहत खराब होती है यह सबको पता है, लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि कम नींद आपकी नौकरी जाने का कारण बन सकती है? शोधकर्ताओं के मुताबिक, कम नींद लेना काम करने की क्षमता, एकाग्रता और याददाश्त पर प्रतिकूल असर डालती है.

 

मैरिलैंड स्थित कोलंबिया के हॉवर्ड काउंटी सेंटर फॉर लंग एंड स्लीप मेडिसिन के निदेशक इमर्सन विकवायर ने कहा, “कम नींद काम करने की क्षमता पर नाटकीय रूप से प्रभाव डालती है. नींद की इस कमी को सप्ताह में एक दिन की छुट्टी से पूरा नहीं किया जा सकता.”

 

समाचार वेबसाइट हफिंग्टन पोस्ट ने कैलिफोर्निया स्थित फ्रेमोंट के वाशिंगटन टाउनशिप सेंटर फॉर स्लीप डिस्ऑर्डर की नितिन वर्मा के हवाले से कहा, “ऐसे लोगों के मन में हमेशा यह डर बना रहता है कि उनसे ज्यादा जवान और स्फूर्तिवान कोई व्यक्ति उनकी नौकरी ले लेगा या उनकी जगह ऐसे ही किसी व्यक्ति की पदोन्नति हो जाएगी.”

 

20-30 आयुवर्ग के लोग रात में नींद न आने की समस्या से ग्रस्त होते हैं.

 

वर्मा ने कहा, “चूंकि उनकी नाइट लाइफ ज्यादा व्यस्त होती है, जिसके कारण वे बमुश्किल चार-पांच घंटे की नींद पूरी कर पाते हैं.”

 

शोधकर्ताओं के मुताबिक, नींद पूरी न हो पाने के कई कारण हैं. कुछ लोग तनाव के कारण, तो कुछ नींद न आने की बीमारी के कारण नींद पूरी नहीं कर पाते.

 

विकवायर कहते हैं, “चूंकि हमें एडिनोसाइन (नींद लाने वाला रसायन) की आदत पड़ चुकी है, इसलिए ऐसी हालत में हमारे द्वारा गलत निर्णय लेने पर भी हमें लगता है कि सबकुछ सही है.”

 

कार्यक्षमता में कमी आना, सेक्स के प्रति इच्छा कम होना, एकाग्रता में कमी और डिप्रेशन इसके सामान्य लक्षण हैं.

 

विकवायर कहते हैं कि इन लक्षणों से छुटकारा पाने के लिए किसी भी कीमत पर आठ घंटे नींद जरूर लें.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: washington_sleeping_office
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017