सुप्रीम कोर्ट ने BCCI से पूछा- CSK को आईपीएल से बाहर क्यों नहीं किया?

By: | Last Updated: Thursday, 27 November 2014 7:46 AM

नई दिल्ली: आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने श्रीनिवासन की टीम चेन्नई सुपर किंग्स को लेकर सख्त टिप्पणी की है. कोर्ट ने कहा है कि बिना किसी और जांच के इस टीम को हटा देना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई से पूछा है कि जब चेन्नई सुपर किंग्स को लेकर इतनी तरफ की गड़बड़ियां सामने आ रही हैं तो ऐसे में उसे बाहर क्यों नहीं किया?

 

सुप्रीम कोर्ट ने ये भी जानना चाहा है कि चेन्नई टीम में श्रीनिवासन की कंपनी इंडिया सीमेंट्स ने जो 400 करोड़ लगाए थे वो फैसला किसका था. सुप्रीम कोर्ट ने श्रीनिवासन से इंडिया सीमेंट्स से शेयरधारकों की पूरी जानकारी मांगी है.

 

धोनी का नाम भी आया-

सुप्रीम कोर्ट में टीम इंडिया और चेन्नई टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का नाम लिया गया है. याचिकाकर्ता क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ़ बिहार की वकील नलिनी चिदंबरम ने अपनी बहस के दौरान महेंद्र सिंह धोनी का नाम लिया. उन्होंने कहा कि धोनी इण्डिया सीमेंट्स के वाईस प्रेसिडेंट थे. वहीं चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान भी थे और तय करते थे कि टीम में कौन खेलेगा. इस पर कोर्ट ने टिप्पणी की कि ये काफी चिंता की बात है.

 

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मुदगल कमेटी की जांच के बाद और किसी जांच की ज़रूरत नहीं है. मुदगल कमेटी की के आधार पर कार्रवाई हो. बेहतर हो कि बीसीसीआई दोबारा चुनाव करा ले, जांच के दायरे में आये लोगों को चुनाव से बाहर रखा जाए और नया बोर्ड रिपोर्ट के आधार पर उचित निर्णय.

 

यह भी पढ़ें-

महिला के साथ पकड़ा गया था क्रिकेटर!  

IPL मामला: श्रीनिवासन को क्लीन चिट, मयप्पन और राज कुंद्रा फंसे 

आईपीएल फिक्सिंग केस में मुद्गल कमेटी ने SC में सौंपी फाइनल रिपोर्ट 

श्रीनिवासन की बीसीसीआई अध्यक्ष की कुर्सी जाएगी या बचेगी? 

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Why was Chennai Super Kings not disqualified despite discrepancies: SC asks BCCI
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017