धोनी को अब कह देना चाहिए अलविदा क्रिकेट ?

By: | Last Updated: Sunday, 11 October 2015 1:39 PM

नई दिल्लीः एक समय टीम इंडिया के सबसे बेहतरीन मैच फिनिशर रहे कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी कानपुर वनडे में उस वक्त आउट हो गए जब करोड़ों फैन्स को लग रहा था कि धोनी छक्के के साथ टीम को जीत दिलाएंगे. आखिरी ओवर में धोनी के आउट होते ही भारत जीती हुई बाजी हार गया. 2015 में लगातार हार रहे धोनी साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहली परीक्षा में भी फेल हो गए.ऐसे में अब सवाल उठ रहे हैं कि क्या धोनी को वनडे से भी संन्यास ले लेना चाहिए?

 

 

साउथ अफ्रीका के खिलाफ कानपुर वनडे भारत आराम से जीत सकता था. 304 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए रोहित शर्मा की 150 रन की पारी ने जीत के करीब पहुंच दिया था. रोहित जब आउट हुए तब भारत को 23 गेंद पर 35 रन चाहिए थे और उसके 6 विकेट बचे थे. मैच आखिरी ओवर तक चला गया. भारत को 6 गेंद पर 11 रन की जरूरत थी. लेकिन धोनी का एक खराब शॉट टीम को ले डूबा.

 

कानपुर में भारत जीती हुई बाजी 5 रन से हार गया. धोनी 31 रन बनाकर आउट हो गए.

 

आपको बता दें कि भारत को कई बड़े टूर्नामेंटों में जीत दिलाने वाले धोनी 2015 में कोई वनडे टूर्नामेंट नहीं जीता है. साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया में ट्राईसीरीज में हारे. इसके बाद विश्व कप के सेमीफाइनल से बाहर हुए. फिर कमजोर मानी जा रही बांग्लादेश से भी टीम को  वनडे सीरीज में हार मिली. एक तरफ धोनी की कप्तानी फ्लॉप रही तो दूसरी तरफ बल्ले ने भी निराश किया. इ साल 16 वनडे में धोनी के बल्ले से सिर्फ 459 रन निकले हैं.

 

कप्तानी में लगातार हार मिल रही है. बल्ले से ज्यादा रन बन नहीं रहे. धोनी की कप्तानी पर तलवार लटक रही है. टीम में उनका अब क्या काम है किसी को नहीं पता

 

ऐसे में बड़ा सवाल यही है कि

 

 

क्या धोनी को वनडे से संन्यास ले लेना चाहिए? क्या है आपकी राय

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: will dhoni announce retirement
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: MS Dhoni retirement Team India
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017