विंबलडनः आसान नहीं होगी जोकोविच, फेडरर और सेरेना की राह

By: | Last Updated: Sunday, 28 June 2015 3:00 PM
wimbledon

लंदन: मौजूदा चैंपियन नोवाक जोकोविच और सात बार के चैंपियन रोजर फेडरर कल से शुरू होने वाले अपने पसंदीदा विंबलडन टेनिस टूर्नामेंट के लिये फिर से तैयार हैं. लेकिन ऑल इंग्लैंड क्लब में इस बार उनके लिये चुनौती आसान नहीं होगी.

 

महिला वर्ग में भी मुकाबला कड़ा होने की संभावना है तथा सेरेना विलियम्स को मारिया शारापोवा और पिछली बार की चैंपियन पेत्रा क्वितोवा की कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ सकता है. हर बार की तरह इस बार भी पुरूष वर्ग में मुकाबला रोमांचक होने की संभावना है.

 

फेडरर, एंडी मर्रे और राफेल नडाल ने विंबलडन से पहले घसियाले कोर्ट पर होने वाले टूर्नामेंट जीतकर अपनी पुख्ता तैयारियों का सबूत पेश किया है. दूसरी तरफ जोकोविच ने साफ कर दिया है कि फ्रेंच ओपन के फाइनल में स्टैन वावरिंका से फाइनल में हारने के बाद भले ही उन्होंने कोई टूर्नामेंट नहीं खेला है लेकिन वह विंबलडन के लिये तैयार हैं.

 

जोकोविच पिछले दो बार विंबलडन के फाइनल में पहुंचे हैं. उन्हें 2013 में मर्रे ने हरा दिया था लेकिन पिछले साल वह पांच सेट तक चले मुकाबले में फेडरर को हराने में सफल रहे थे. उन्हें अब भी अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की उम्मीद है. जोकोविच ने कहा, ‘‘पिछले दो वर्षों में मैं विंबलडन से पहले कोई अभ्यास टूर्नामेंट नहीं खेला लेकिन मैं दो साल पहले भी फाइनल खेला और पिछले साल विजेता बना था. ’’

 

जोकोविच विंबलडन में अपने खिताब के बचाव का अभियान जर्मनी के फिलिप कोलश्राइबर के खिलाफ करेंगे. यह मैच कल सेंटर कोर्ट पर खेला जाएगा. पिछले साल के उप विजेता और 17 ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाले फेडरर अपने अभियान की शुरूआत बोस्निया के दामिर दजुमहुर के खिलाफ करेंगे जिन्हें उन्होंने फ्रेंच ओपन के तीसरे दौर में हराया था. तीसरी वरीय र्मे कजाखस्तान के मिखाइल कुकुशकिन के खिलाफ अपना पहला मैच खेलेंगे. विंबलडन में कभी क्वार्टर फाइनल से आगे नहीं बढ़ पाने वाले फ्रेंच ओपन चैंपियन वावरिंका पहले दौर में पुर्तगाल के जोओ सोसा से भिड़ेंगे. नडाल का शुरूआती मुकाबला ब्राजील के थामस बेलूसी से होगा.

 

महिलाओं में फिर से सभी की निगाह पांच बार की चैंपियन सेरेना पर टिकी रहेगी लेकिन दो बार की चैंपियन क्वितोवा फिर से विंबलडन में अपना परचम लहराने के लिये तैयार हैं. मौजूदा चैंपियन क्वितोवा और सेरेना हालांकि अलग अलग हाफ में हैं और इन दोनों के बीच फाइनल में ही मुकाबला हो सकता है. क्वितोवा की विंबलडन की तैयारियों को बीमार होने के कारण झटका लगा है. वह वाइरल के कारण पिछले सप्ताह ईस्टबोर्न टूर्नामेंट में नहीं खेल पायी थी. उन्होंने कहा, ‘निश्चित तौर पर बीमार होने के कारण मेरी तैयारियां अच्छी नहीं रही लेकिन मैं आल इंग्लैंड में लौटकर खुश हूं. उम्मीद है कि मंगलवार को अपना पहला मैच खेलने तक मैं पूरी तरह फिट हो जाउंगी. ’’

 

सेरेना की निगाह अपने करियर में दूसरी बार करियर स्लैम (एक बार चारों ग्रैंडस्लैम खिताब अपने पास रखना) पर टिकी हैं. इससे पहले उन्होंने 2002 फ्रेंच ओपन से लेकर 2003 में ऑस्ट्रेलियाई ओपन तक चारों ग्रैंडस्लैम खिताब जीते थे. इस बार हालांकि सेरेना के लिये चुनौती अधिक कड़ी दिख रही है क्योंकि उनकी बड़ी बहन वीनस, विक्टोरिया अजारेंका, अन्ना इवानोविच, शारापोवा और सामंता स्टोसुर सभी उनके हाफ में हैं.

 

सेरेना ने कहा कि वह किसी तरह के दबाव में नहीं हैं. उन्होंने कहा, ‘‘मैं वास्तव में कोई दबाव महसूस नहीं कर रही हूं. मानसिक रूप से मजबूत होना मेरा सबसे मजबूत पक्ष है. ’’ शारापोवा भी कल ही अपना पहला मैच खेलेंगी. उन्हें ब्रिटेन की वाइल्ड कार्ड से प्रवेश पाने वाली जोहाना कोंटा का सामना करना है जबकि क्वितोवा मंगलवार को नीदरलैंड की किकी बर्टन्स के खिलाफ अपने अभियान की शुरूआत करेंगी.

 

 

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: wimbledon
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017