World Cup 2015_Semi-Final_

World Cup 2015_Semi-Final_

By: | Updated: 23 Mar 2015 12:39 PM

ऑकलैंड: इडेन पार्क स्टेडियम में मंगलवार को न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका की टीमें जब आईसीसी विश्व कप-2015 के पहले सेमीफाइनल में आमने-सामने होंगी तो किसी एक टीम का पहली बार विश्व कप के फाइनल में पहुंचने का सपना पूरा हो जाएगा.

 

यह दोनों के लिए इतिहास रचने वाली घटना होगी. न्यूजीलैंड पूर्व में छह और दक्षिण अफ्रीका तीन बार विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचा है लेकिन हर बार यह दोनों टीमें फाइनल तक का सफर तय करने में नाकाम ही रही हैं.

 

टूर्नामेंट शुरू होने के पहले से ही हालांकि यह दोनों टीमें खिताब के प्रबल दावेदार के तौर पर देखी जा रही हैं लेकिन किसी एक एक टीम का सफर यहां थम जाएगा.

 

न्यूजीलैंड लगातार नौ एकदिवसीय मैच जीतकर अपने अब तक के सर्वश्रेष्ठ लय में है. ब्रेंडन मैक्लम, कोरे एंडरसन, टिम साउदी, केन विलियमसन सहित मार्टिन गुप्टिल कुछ ऐसे नाम हैं जिन्होंने अलग-अलग मौकों पर शानदार प्रदर्शन कर कीवी टीम की जीत सुनिश्चित की है.

 

न्यूजीलैंड जारी टूर्नामेंट में अब तक अपराजित रहा है और अपने घर में सेमीफाइनल खेलते हुए भी कीवी टीम आसानी से हार नहीं मानेगी.

 

कप्तान ब्रेंडन मैक्लम ने हालांकि घरेलू दर्शकों के सामने इतना अहम मैच खेलने को लेकर चिंता जाहिर की है. मैक्लम ने मैच पूर्व संध्या पर संवाददाताओं से कहा, "जब आप अच्छा कर रहे होते हैं तो दर्शक आपके साथ होते हैं. हम पर घरेलू दर्शकों के सामने खेलने का दबाव है लेकिन हम इससे उबरने की कोशिश करेंगे. मैं यह मानता हूं कि अधिक दबाव में रहने का कोई फायदा नहीं होता."

 

दूसरी ओर, दक्षिण अफ्रीका को ग्रुप वर्ग में भारत औ पाकिस्तान से मिली हार यह दर्शाती है कि बड़े दबाव में बिखर जाने की पुरानी आदत से टीम अब भी पूरी तरह से उबर नहीं सकी है.

 

श्रीलंका के खिलाफ हालांकि दक्षिण अफ्रीका की शानदार जीत ने टीम का उत्साह जरूर बढ़ाया होगा. विश्व कप इतिहास के नॉकआउट मुकाबलों में दक्षिण अफ्रीका की यह पहली जीत रही.

 

कप्तान डिविलियर्स ने कहा है कि अगर उनकी टीम अपनी पूरी क्षमता के साथ खेली तो फिर उसे कोई रोक नहीं सकता. डिविलियर्स ने कहा, "हम अगर अपनी क्षमता के साथ न्याय करने में सफल रहे तो फिर हमें इस टूर्नामेंट में कोई रोक नहीं सकेगा."

 

विश्व कप में पिछली बार न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका की टीम 2011 के संस्करण में भिड़ी थीं जहां क्वार्टर फाइनल में कीवी टीम ने 49 रनों से जीत दर्ज की.

 

टूर्नामेंट में अब तक 19 विकेट हासिल कर गेंदबाजों की सूची में शीर्ष पर मौजूद ट्रेंट बाउल्ट न्यूजीलैंड की ओर से विश्व कप में सबसे सफल गेंदबाज बनने से महज दो कदम दूर हैं. ज्योफ एलॉट ने 1999 विश्व कप में 20 विकेट हासिल किए थे और किसी भी विश्व कप के सर्वाधिक सफल कीवी गेंदबाज बने.

 

इस बीच न्यूजीलैंड के खेमे के लिए बुरी खबर यह है कि तेज गेंदबाज एडम मिल्ने चोट के कारण विश्व कप से बाहर हो गए हैं. उनकी जगह मैट हेनरी को मौका दिया गया है.

 

विश्व कप के सात मैचों में छह में हिस्सा लेते हुए पांच विकेट लेने वाले मिल्ने का प्रदर्शन हालांकि बहुत उत्साहजनक नहीं रहा है. इसके बावजूद वह विजयी टीम के हिस्सा रहे थे और ऐसे में हेनरी अचानक विश्व कप के आखिरी क्षणों में टीम से जुड़ कर क्या न्यूजीलैंड के लिए कोई कमाल कर सकेंगे, यह देखने वाली बात होगी.

 

टीम (संभावित) (दक्षिण अफ्रीका): हाशिम अमला, क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), फाफ दू प्लेसिस, अब्राहम डिविलियर्स (कप्तान), ज्यां पॉल ड्यूमिनी, डेविड मिलर, रिली रोसू, फरहान बेहारदीन, वर्नोन फिलांडर, मोर्ने मोर्कल, डेल स्टेन, इमरान ताहिर.

 

न्यूजीलैंड: मार्टिन गुप्टिल, ब्रेंडन मैक्लम (कप्तान), केन विलियमसन, रॉस टेलर, ग्रांट इलियट, कोरी एंडरसन, ल्यूक रोंची (विकेटकीपर), डेनियल विटोरी, मैट हेनरी, टॉम लाथम, टिम साउदी, ट्रेंट बोल्ट.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story SAvsIND: भुवनेश्वर कुमार की रिकॉर्ड गेंदबाजी से भारत ने जीता पहला टी-20 मैच