क्या धोनी के कारण टीम में वापसी नहीं कर सके युवराज?

By: | Last Updated: Tuesday, 6 January 2015 1:34 PM

नई दिल्लीः विश्व कप 2011 में टीम इंडिया के जीत के सबसे बड़े हीरो बन कर सामने आए युवराज सिंह 2015 विश्व कप से पहले चर्चा में आ गए. पहले तो उन्हें संभावित 30 में जगह नहीं दी गई लेकिन इसके बाद जब उनके बल्ले से रणजी ट्रॉफी में तीन लगातर शतक लगाए तो अचानक चर्चा इस बात को लेकर होने लगी कि क्या युवी एक बार फिर टीम इंडिया की किस्मत बदलेंगे. लेकिन युवराज के किस्मत को टीम के कप्तान ने ब्रेक लगा दी.

 

सूत्रों की मानें तो युवी के कम बैक को रोकने के पीछे कैप्टन कूल धोनी की अहम भूमिका रही. बताया जा रहा है कि धोनी नहीं चाहते थे कि युवराज टीम में शामिल हो और चयनकर्तओं को उनकी जिद के आगे झुकना पड़ा.

 

सूत्रों के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड में होने वाले विश्व कप के लिए युवराज सिंह की टीम में एंट्री को लेकर कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने रोड़ा अटकाया. चयनकर्ता युवराज को चुनने के पक्ष में थे लेकिन टीम मैनेजमेंट उनके पक्ष में नहीं था. सूत्रों की मानें तो चयनकर्ता के साथ-साथ कोच भी युवराज के पक्ष में थे. लेकिन युवराज की वापसी धोनी के कारण नहीं हो सकी.

 

क्यों नहीं चाहते थे धोनी –

 

रिपोर्ट के मुताबिक चयनकर्ता युवराज के तीन लगातार शतक से काफी प्रभावित थे और चोटिल रविंद्र जडेजा की जगह उन्हें टीम में चाहते थे. लेकिन धोनी ने कहा कि युवी स्पिन ऑलराउंडर है जबकि टीम को एक पेसर ऑलराउंडर की जरूरत है. धोनी के इस पसंद कते आगे चयनकर्ताओं को झूकना पड़ा और वनडे क्रिकेट में भारत की तरफ से गेंदबाजी का नया रिकॉर्ड बनाने वाले बिन्नी टीम में जगह बना गए.

 

इन खबरों के अलावा कुछ और वजहें भी हैं जिनके कारण युवराज टीम में वापसी नहीं कर पाए.

 

 

1-  युवराज का बल्ला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लंबे समय से नहीं चला जिसके कारण उन्हें 2013 दिसंबर के बाद से टीम से बाहर कर दिया गया.  उन्होंने अपने अंतिम 20 मैचों में महज एक शतक और दो अर्धशतक लगाए थे.

 

2- बल्ले के साथ-साथ उनकी गेंदबाजी की धार भी खत्म होती जा रही थी. वह पहले जैसी गेंदबाजी भी नहीं कर पा रहे थे.

 

3- कैंसर की घातक बीमारी के कारण उनके शरीर पर दवाईयों का असर दिखता है. उनमें पहले जैसी फुर्ती नहीं दिखती है. उन्होंने जबरदस्त प्रैक्टिस करके अपनी सेहत और खेल दोनों में सुधार किया है. लेकिन इसका बुरा असर दिख रहा है.

 

4- कैंसर को मात देकर वापसी करने वाले रहे युवराज की तकनीक और रिफ्लेक्स में कमी आई है. वह उछाल वाली गेंदों के सामने पस्त होने लगते हैं.

 

5- बीसीसीआई उन्हें पहले ही टीम इंडिया के लिए नहीं मानता तभी उसने नए ग्रैडिंग सिस्टम से युवराज को बाहर कर दिया.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: yuvi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Worldcup 2015
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017