कैंसर को मात देकर मैदान पर युवराज की 'रिकॉर्ड' वापसी

By: | Last Updated: Monday, 16 February 2015 3:32 PM
yuvraj

नई दिल्लीः 33 साल के युवराज सिंह का क्रिकेट करियर 15 साल का है. लेकिन ये करियर दो हिस्सों में बंटा हुआ है. एक वो जिसमें विश्वकप समेत जीत के तमाम तमगे हैं और दूसरा वो जब वौ कैंसर को मात देकर फिर क्रिकेट के मैदान में लौटे.

 

बाएं हाथ के इस बल्लेबाज की पहचान ताबड़तोड़ क्रिकेट है, उनका तजुर्बा है और मैच फिनिशर होने का तमगा भी.

 

लेकिन ये तमगे इस बार उन्हें विश्वकप की टीम इंडिया का हिस्सा नहीं बना पाए. साल 2011 के विश्वकप में युवराज ने नौ मैचों की आठ पारियों में  चार बार नॉटआउट रहते हुए 362 रन बनाए थे. टीम इंडिया 28 साल बाद दोबारा विश्वविजेता बनी थी और युवराज सिंह इस जीत के लिए मैन ऑफ द टूर्नामेंट बने थे. इससे पहले युवराज, 2003, 2007 और 2011 की विश्वकप टीम का हिस्सा रहे थे.

 

 

विश्वकप में युवराज ने 23 मैच में एक शतक और सात अर्द्धशतक सहित 738 रन बनाए हैं. वहीं अपने करियर में युवराज सिंह ने 293 वनडे मैच में 36.37 की औसत  से 8329 रन बनाए हैं जिसमें 13 शतक और 51 अर्धशतक शामिल हैं.

 

युवराज सिंह के साथ दूसरी अहम बात ये जाती है कि मौका पड़ने पर स्पिन गेंद भी डाल सकते हैं. अपने करियर में 111 विकेट हासिल कर चुके हैं. साथ ही ताबड़तोड़ खेलने में ओवर में छह छक्के कभी भूले नहीं जा सकते.

 

युवराज की जिंदगी का सबसे अहम मोड़ तब आया था जब साल 2011 के विश्वकप के फौरन बाद उन्हें कैंसर जैसी बीमारी ने जकड़ा. करीब एक साल तक इलाज और वापसी के लिए जूझने के बाद युवी एक बार फिर क्रिकेट की दुनिया में लौट आए लेकिन ये दूसरी पारी यूवी के संघर्ष का दूसरा दौर साबित हुई.

 

 

कैंसर से लौटने के बाद युवराज सिंह ने 19 वन डे मैच खेले और कुल 278 रन बनाए लेकिन उनका औसत पहले के मुकाबले आधा यानी 18.53 रन ही रह गया है, कैंसर का शिकार होने से पहले विकेटों का शतक पूरा करने वाले युवराज की बॉलिंग की धार की कमजोर पड़ी है वनडे क्रिकेट में उन्होंने सिर्फ 2 विकेट ही लिए हैं. लेकिन दिल्ली डेयरडेविल्स आईपीएल टीम ने उन्हें अपनी टीम के लिए 16 करोड़ में खरीदा है तो इसकी वजह ये है कि कैंसर के बाद ट्वेंटी ट्वेंटी में उनके प्रदर्शन में कोई फर्क नहीं पड़ा है

 

 

युवराज ने साल 2012 से 2015 के बीच कुल 17 टी ट्वेंटी मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने वनडे के मुकाबले करीब डेढ़ गुने यानी 401 रन बनाए हैं और उनका औसत भी 30.84 रहा है. यही नहीं टी-ट्वेंटी में वो 15 विकेट लेकर गेंदबाजी में भी बेहतर प्रदर्शन कर चुके  हैं.

 

अब युवराज डेल्ही डेयरडेविल्स के साथ मैदान पर दिखेंगे और उनके चाहने वाले तो यही चाहेंगे कि उनका बल्ला रन उगले उनकी गेंदें शिकार की तलाश करती रहें और युवराज क्रिकेट के युवराज बने रहें.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: yuvraj
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017