तिवारी ने पूर्व क्षेत्र को देवधर फाइनल में पहुंचाया, युवराज फिर हुए फ्लॉप

By: | Last Updated: Sunday, 30 November 2014 2:37 PM

मुंबई: अनुभवी मनोज तिवारी ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलते हुए आज यहां 151 रन बनाये जिससे पूर्व क्षेत्र ने पहले सेमीफाइनल में उत्तर क्षेत्र को 52 रन से हराकर आसानी से देवधर ट्रॉफी वनडे टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनायी. पूर्व क्षेत्र की पारी पूरी तरह से कप्तान तिवारी के इर्द गिर्द घूमती रही जिन्होंने इस दौरान 121 गेंद खेली तथा 15 चौके और चार छक्के लगाये.

 

तिवारी के प्रयास ही पूर्व क्षेत्र आठ विकेट पर 273 रन बनाने में सफल रहा. तिवारी के अलावा केवल सलामी बल्लेबाज श्रीवत्स गोस्वामी (43) ही 20 रन के पार पहुंचे. इसके जवाब में उत्तर क्षेत्र की टीम 47.1 ओवर में 221 रन पर ढेर हो गयी. हरभजन सिंह के वायरल बुखार से पीड़ित होने के कारण टीम की अगुवाई कर रहे युवराज सिंह नाकाम रहे और केवल चार रन बनाकर पवेलियन लौटे.

 

गुरकीरत सिंह ने 83, मनदीप सिंह ने 40 और रिषि धवन ने 38 रन बनाये लेकिन अन्य कोई भी बल्लेबाज पूर्व क्षेत्र की अनुशासित गेंदबाजी के आगे नहीं टिक पाया. उत्तर क्षेत्र ने टास जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए अच्छी शुरूआत की तथा पूर्व क्षेत्र को जल्द ही दो करारे झटके दिये जिससे उसका स्कोर दो विकेट पर 33 रन हो गया. इसके बाद तिवारी क्रीज पर उतरे और उनकी पारी आखिर में मैच में निर्णायक साबित हुई. इस 29 वर्षीय बल्लेबाज ने गोस्वामी के साथ तीसरे विकेट के लिये 60 रन की साझेदारी की.

 

तिवारी पारी के आखिरी ओवर में आउट हुए. उन्होंने संदीप शर्मा पर चौका और फिर छक्का जड़ने के बाद अगली गेंद पर करारा शॉट जमाने के प्रयास में कैच दिया. उत्तर क्षेत्र की तरफ से संदीप सबसे सफल गेंदबाज रहे उन्होंने 49 रन देकर तीन विकेट लिये जबकि रिषि धवन ने 53 रन के एवज में दो विकेट हासिल किये. चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का पीछा करते हुए उत्तर क्षेत्र की शुरूआत खराब रही और जल्द ही उसका स्कोर तीन विकेट पर 29 रन हो गया. सलामी बल्लेबाज उन्मुक्त चंद का लचर प्रदर्शन यहां भी जारी रहा.

 

भारत की अंडर.19 टीम के पूर्व कप्तान ने पिछली सात पारियों में केवल 48 रन बनाये हैं. युवराज सिंह भी नहीं चल पाये और एक चौका जड़ने के बाद विकेट के पीछे कैच देकर पवेलियन लौटे. मनदीप और गुरकीरत ने टीम को संकट से उबारने की कोशिश की लेकिन रन रेट बढ़ने से दबाव में उत्तर क्षेत्र ने नियमित अंतराल में विकेट गंवाये. पूर्व क्षेत्र की तरफ से सौराशीष लाहिड़ी सबसे सफल गेंदबाज रहे. उन्होंने 41 रन देकर तीन विकेट लिये. बिप्लब सामंत्रे और अशोक डिंडा को दो दो विकेट मिले.

 

 टीम में वापसी के प्रति आश्वस्त हैं तिवारी

पिछले कुछ समय से भारतीय टीम से अंदर बाहर होते रहे मनोज तिवारी को न सिर्फ टीम में वापसी की उम्मीद है बल्कि उन्हें भरोसा है कि घरेलू क्रिकेट में अच्छे प्रदर्शन के दम पर वह लंबे समय तक राष्ट्रीय टीम का हिस्सा बने रहेंगे. देवधर ट्रॉफी में पूर्व क्षेत्र की तरफ से 151 रन की शानदार पारी खेलने के बाद तिवारी ने कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि मुझे मौका मिलेगा और उम्मीद है कि इस बार मैं लंबे समय तक टीम से जुड़ा रहूंगा.’’

 

तिवारी ने कहा कि उम्र बढ़ने के साथ ही वह खिलाड़ी के रूप में परिपक्व हुए हैं और पहले की तरह अपना विकेट नहीं गंवाते. उन्होंने कहा, ‘‘पहले मैं पारी के बीच में अपना विकेट आसानी से गंवा देता था लेकिन अब मैं अपनी अच्छी फॉर्म का पूरा फायदा उठाने की कोशिश करता हूं.

 

अब मैं अनुभवी खिलाड़ी बन गया हूं और मैं अपने खेल को अच्छी तरह से समझता हूं. मैंने अपने कोच की मदद से अपनी बल्लेबाजी में काफी बदलाव किये हैं. ’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: yuvraj sing
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017