कुछ यूं लिया था युवराज ने गांगुली के मजाक का बदला, रो पड़े थे गांगुली!

By: | Last Updated: Wednesday, 13 August 2014 10:27 AM
yuvraj singh’s prank

नई दिल्लीः क्रिकेट खिलाड़ी मैदान से ज्यादा समय कहीं बिताते हैं तो वो है ड्रेसिंग रुम का और यही वो जगह है जिसके बारे में क्रिकेट फैन्स सबसे ज्यादा जानना चाहते हैं. क्रिकेटरों की जिन्दगी भी यहां मैदान से अलग होती है. सालों बाद भी आए कुछ क्रिकेटरों के पुराने किस्से लोगों को गुदगुदा देते हैं. ऐसा ही एक प्रसंग हाल ही में सामने आया है.

 

स्पोर्ट्स वेब साइट स्पोर्ट्स कीड़ा ने युवराज सिंह और कप्तान (पूर्व) सौरव गांगुली के बीच के एक ऐसे किस्से का खुलासा किया है जिसे पढ़ कर आप की हंसी बंद ही नहीं होगी. पहला मामला उस वक्त का है जब युवराज वनडे टीम में पदार्पण कर रहे थे. युवी अपने पहले मैच को लेकर पहले से ही टेंशन में थे और इसके बाद गांगुली ने युवी को ऐसी बात बोल दी कि उन्हें नींद की गोली खानी पड़ी. युवराज अपने पहले मैच के लिए प्लान कर रहे थे कि उसी वक्त टीम के कप्तान सैरव गांगुली उनके पास आए और युवी से कहा ओपेन करेगा न? कप्तान के ये शब्द सुन कर युवराज के तो होश ही उड़ गए. युवराज ने हां तो कर दिया लेकिन टेंशन इतना कि नींद की गोली खा कर सो गए. अगली सुबह गांगुली ने युवराज से कहा कि वो मजाक था. गांगुली के लिए तो बात खत्म हो गई लेकिन युवी के लिए बात खत्म नहीं हुई थी और वो बदला लेने की तैयारी में लग गए.

 

पांच साल बाद वो मौका युवी को मिला. युवी उस वक्त टीम इंडिया के सबसे बड़े मैच विनर बन गए थे. टीम में उनकी एक खास पोजिशन थी. मौका था पाकिस्तान के खिलाफ खेलने का. टीम के कप्तान गांगुली टीम मीटिंग के लिए पहुंचे लेकिन वहां का नजारा बदला हुआ था. सभी शांत थे और सबके हाथों में एक न्यूज़पेपर का टूकड़ा था. दादा कुछ बोलते उससे पहले सभी ने दादा की ओर पेपर को बढ़ा दिया. पेपर पढ़ते ही दादा के होश उड़ गए. उसमें दादा का एक इंटरव्यू छपा था जिसमें लिखा था कि दादा ने अपने टीम मेट की जमकर आलोचना की है. दादा कभी युवी को देखते तो कभी सहवाग और कभी भज्जी को लोकिन कोई कुछ नहीं बोल रहा था. कप्तान गांगुली हर एक खिलाड़ी के पास जा कर आश्वासन दे रहे थे कि उन्होंनें कभी इस तरह का कोई कॉमेंट कभी नहीं दिया लेकिन कोई मानने को तैयार ही नहीं. फिर दादा से नहीं रहा गया और वो कप्तानी से इस्तीफा देने के लिए तैयार हो गए. वो रोने ही वाले थे कि टीम के भरोसेमंद राहुल द्रविड़ ने युवराज की इस कहानी को सबके सामने ला दिया. आपको बता दें कि युवी ने पहले से कुछ पेपर प्रिंट करवा लिए थे जिसमें वो सारी बातें लिखी थी.

 

फिर तो गांगुली और दूसरे खिलाड़ियों की हंसी पूरे रूम में गूंज गई. किसी की हंसी रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी… और दादा बैट उठाए युवराज के पीछे दौड़ गए…

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: yuvraj singh’s prank
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017