zaheer khan

zaheer khan

By: | Updated: 06 Feb 2015 10:36 AM

नई दिल्ली: विश्व कप 2011 में भारत की जीत के नायकों में रहे तेज गेंदबाज जहीर खान का मानना है कि टूर्नामेंट में विराट कोहली और रोहित शर्मा टीम के ‘एक्स फैक्टर’ साबित हो सकते हैं. लेकिन खिताब बरकरार रखने के लिये सही संयोजन उतारना और सही समय पर लय हासिल करना जरूरी है.

 

जहीर ने विश्व कप 2011 में पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी के साथ संयुक्त रूप से सर्वाधिक 21 विकेट लिये थे. उनका मानना है कि ऑस्ट्रेलिया में ट्राई सीरीज में खराब प्रदर्शन का विश्व कप में भारतीय टीम पर असर नहीं पड़ेगा और महेंद्र सिंह धोनी एंड कंपनी सेमीफाइनल में जगह बनायेगी.

 

उन्होंने इंटरव्यू में कहा ,‘‘ विश्व कप एक अलग टूर्नामेंट है और हर टीम इसमें अच्छा प्रदर्शन करना चाही है. ट्राई सीरीज अब बीती बात हो चुकी है. मुझे यकीन है कि भारत सेमीफाइनल में होगा. ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड भी तेज गेंदबाजों की मददगार घरेलू पिचों पर प्रबल दावेदार होंगे और लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही दक्षिण अफ्रीकी टीम भी अंतिम चार में जगह बना सकती है.’’ भारतीय गेंदबाजों के फॉर्म और फिटनेस की आलोचना को तूल नहीं देते हुए इस अनुभवी तेज गेंदबाज ने कहा कि मैच ऑल राउंड प्रदर्शन से जीते जाते हैं और उसी पर फोकस करना जरूरी है.

 

उन्होंने कहा ,‘‘चोट खेल का हिस्सा है. सही संयोजन तलाशना जरूरी है. वैसे भी क्रिकेट टीम का खेल है और सिर्फ गेंदबाजों नहीं बल्कि बल्लेबाजों को भी अच्छा प्रदर्शन करना होगा. मुझे यकीन है कि भारतीय टीम ऑल राउंड प्रदर्शन पर फोकस करेगी.’’

 

जहीर ने नई गेंद मोहम्मद शमी को सौंपने की सलाह देते हुए कहा कि पहला स्पैल काफी महत्वपूर्ण होगा जिससे मैच की दिशा तय होगी. उन्होंने कहा,‘‘ मुझसे पूछा जाये तो मैं कहूंगा कि नयी गेंद शमी को सौंपी जाये जो दिशा निर्धारित करने का काम करेगा. वनडे क्रिकेट में रनगति रोकने का एक ही तरीका है कि विकेट लगातार मिलती रहे. नए नियमों के तहत हम काफी समय से खेल रहे हैं लिहाजा डैथ ओवरों में स्पष्ट सोच के साथ उतरना जरूरी है.’’ भारत के लिये 92 टेस्ट में 311 और 200 वनडे में 282 विकेट ले चुके जहीर ने कहा कि भारत को लंबे ऑस्ट्रेलिया दौरे का फायदा मिलेगा.

 

उन्होंने कहा ,‘‘हम लंबे समय से ऑस्ट्रेलिया में है और वहां लगभग सभी पिचों पर खेल चुके हैं. इसका हमें फायदा मिल सकता है. मुझे नहीं लगता कि इस विश्व कप को गेंदबाजों का विश्व कप करार देना सही होगा. टीमों को बड़े स्कोर भी बनाने होंगे ताकि गेंदबाज उसे बचा सके.’’ यह पूछने पर कि भारतीय टीम का ‘एक्स फैक्टर’ कौन होगा, उन्होंने विराट और रोहित का नाम लिया.

 

उन्होंने कहा ,‘‘ भारत का बल्लेबाजी क्रम काफी मजबूत है लेकिन सभी को अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन करना होगा. रोहित और विराट की भूमिका काफी महत्वपूर्ण होगी. रोहित पारी की शुरूआत करेगा और विराट तीसरे या चौथे नंबर पर रहेगा और ये दोनों पारी के सूत्रधार की भूमिका निभा सकते हैं .’’ धोनी का विश्व कप से पहले तेज गेंदबाजों के साथ दो दिन के लिये ‘बूट कैम्प’ पर जाना कितना फायदेमंद होगा, यह पूछने पर जहीर ने कहा कि पहले भी तरोताजा होने के लिये इस तरह के प्रयोग किये जाते रहे हैं . उन्होंने कहा ,‘‘ हमेशा से हम इस तरह के तरीके निकालते रहे हैं . पहले भी ऐसी चीजें की है जिससे खिलाड़ी तरोताजा हो सके. यह रूटीन बात है और मेरे लिये यहां बैठकर तय करना मुश्किल है कि इससे कितना फायदा होगा.’’ अपनी फिटनेस के बारे में उन्होंने कहा कि वह वापसी के लिये तैयार हैं और छोटे प्रारूप से शुरूआत करना चाहते हैं.

 

यह पूछने पर कि इस सत्र में उन्होंने रणजी क्रिकेट क्यों नहीं खेला , उन्होंने कहा ,‘‘ मैं गेंदबाजी का नियमित अभ्यास कर रहा हूं लेकिन रणजी इसलिये नहीं खेला क्योंकि अभी 35-40 ओवर फेंकने की स्थिति में नहीं हूं . मैं छोटे प्रारूप से शुरूआत करना चाहता हूं.’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story घरेलू क्रिकेट का रन मशीन, सीनियर टीम में जलवा दिखाने की तैयारी में!