कोर्ट ने स्वामी सानंद को फिर जेल भेजा

By: | Last Updated: Saturday, 17 August 2013 7:16 AM
कोर्ट ने स्वामी सानंद को फिर जेल भेजा

<p style=”text-align: justify;”>
<b>हरिद्वार:
</b>गंगा रक्षा को आंदोलनरत्
स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद
(प्रो. जीडी अग्रवाल) के
बुधवार को निजी मुचलका दाखिल
न करने पर कोर्ट ने 14 दिन की
न्यायिक हिरासत में जेल भेज
दिया.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
स्वामी सानंद 13 जून से
हरिद्वार के मातृसदन में
प्रदेश की नदियों पर बन रही
पन बिजली परियोजनाओं पर रोक
लगाने की मांग को लेकर तप
(अनशन) शुरू किया था. अनशन के 50
दिन होने पर जिला प्रशासन ने
उनकी स्वास्थ्य रक्षा के लिए
उन्हें एक अगस्त को जबरन उठा
लिया.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
प्रशासन ने उनके खिलाफ
आत्महत्या के प्रयास का
मुकदमा दर्ज कर कोर्ट में पेश
किया था. तब कोर्ट ने उन्हें
निजी मुचलका दाखिल न करने पर 14
दिन की न्यायिक हिरासत में
जेल भेजने के आदेश दिए.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
बाद में सीएमओ की अनुशंसा पर
उन्हें उपचार के लिए एम्स
दिल्ली में भर्ती कराने के
आदेश दिए थे. पुलिस ने उन्हें
उसी रात एम्स में भर्ती करा
दिया था. बाद में एम्स से
डिस्चार्ज होने पर आठ अगस्त
की रात को पुलिस ने उन्हें
हरिद्वार जेल पहुंचा दिया.
न्यायिक हिरासत की अवधि पूरी
होने पर बुधवार को उन्हें
चंद्रमणि राय, सिविल जज
सीनियर डिवीजन, प्रथम/ जेएम
की अदालत में पेश किया गया.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
स्वामी ज्ञान स्वरूप सानंद
की ओर से बुधवार को भी निजी
मुचलका दाखिल न किए जाने पर
अदालत ने उन्हें फिर से 14 दिन
की न्यायिक हिरासत में जेल
भेज दिया.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
उधर, बुधवार को ही मातृसदन का
एक प्रतिनिधिमंडल डॉ. विजय
वर्मा के नेतृत्व में उनसे
मिलने जेल पहुंचा.  उन्होंने
स्वामी सानंद से उनका हाल-चाल
लिया. डॉ. वर्मा ने आरोप लगाया
कि जेल प्रशासन ने अपनी तरफ
से एम्स की ओर से तय खुराक में
पर्वितन कर दिया है.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
हालांकि जेल प्रशासन ने
उन्हें बताया कि एम्स दिल्ली
के निर्देश ठीक से न पढ़े
जाने से ऐसा हुआ. स्वामी
ज्ञानस्वरूप सानंद (प्रो.
जीडी अग्रवाल) ने बुधवार को
अदालत में पेश किए जाने पर
आइआइटी के पूर्व प्रोफेसर
होने का हवाला देते हुए जेल
में उन्हें उसी के अनुरूप
सुविधाओं की मांग की.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
स्वामी सानंद उर्फ प्रो.
अग्रवाल आइआइटी कानपुर में
विभागाध्यक्ष रह चुके हैं.
साथ ही अन्य कई सम्मानित पदों
पर भी रहे हैं. उनके
प्रार्थना पत्र पर शुक्रवार
को सुनवाई होगी. बुधवार को
नियमित जज न होने से इस पर
सुनवाई नहीं हो सकी.<br />
</p>

Television News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: कोर्ट ने स्वामी सानंद को फिर जेल भेजा
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017