मध्‍य प्रदेश में दो गुना हुआ पुजारियों का मानदेय

By: | Last Updated: Tuesday, 12 February 2013 9:37 AM
मध्‍य प्रदेश में दो गुना हुआ पुजारियों का मानदेय

<p style=”text-align: justify;”>
<b>भोपाल:</b>
मध्य प्रदेश में मंदिरों के
सेवादारों और पुजारियों के
मानदेय दो गुना कर दिए गए हैं.
यह फैसला मुख्यमंत्री
शिवराज सिंह चौहान की
अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद
की मंगलवार को हुई बैठक में
लिया गया.<br /><br />राज्य में
धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व
विभाग के अन्तर्गत
शासन-संधारित मंदिरों के
सेवादारों व पुजारियों को
मानदेय दिया जाता है. वर्तमान
में इन्हें मानदेय साल 2003 में
किए गए प्रावधानों के अनुसार
दिया जाता है.<br /><br />तय नियमों
के मुताबिक जिन मंदिरों के
पास भूमि नहीं है, उनके
पुजारियों को 500 रुपये
प्रतिमाह, जिन मंदिरों के पास
पांच एकड़ तक भूमि है उन्हें
350 रुपये प्रतिमाह और जिन
मंदिरों के पास पांच एकड़ से
अधिक और 10 एकड़ तक भूमि है
उनके सेवादारों व पुजारियों
को 260 रुपये प्रतिमाह की दर से
मानदेय दिया जाता है.
मंत्रिपरिषद के निर्णय के
अनुसार मानदेय की राशि बढ़कर
क्रमश: 1000, 700 तथा 520 रुपये हो
जाएगी.<br /><br />बैठक में
न्यायाधीश के 138 पद और उनके
लिए जरूरी अमले को मंजूरी दी
गई. इनमें से 52 पद जिला एवं
सत्र न्यायाधीश (प्रवेश स्तर)
के हैं.<br /><br />न्यायाधीशों के
अमले के लिए 468 पद सृजित करने
की स्वीकृति दी गई. इसके
अलावा 86 पद सिविल जज वर्ग दो
(प्रवेश स्तर) के स्वीकृत किए
गए. इनमें से 43 पद साल 2012-13 में
और 43 पद साल 2013-14 में सृजित किए
जाएंगे. इनके अमले के लिए 301-301
पद सृजित करने की स्वीकृति दी
गई.<br /><br />मंत्रिपरिषद ने तीन
सिंचाई परियोजनाओं के लिए 1387
करोड़ की राशि भी मंजूर की है.
छतरपुर जिले की बांयी नहर
परियोजना के लिए 545 करोड़ 90 लाख
रुपये की प्रशासकीय
स्वीकृति और निवेश निकासी की
अनुमति दी.<br /><br />परियोजना की
रूपांकित सिंचाई क्षमता 43
हजार 850 हेक्टेयर है. रायसेन
जिले की बारना वृहद परियोजना
के विस्तार तथा इसे सुदृढ़ और
आधुनिक बनाने के लिए 581 करोड़
रुपये की प्रशासकीय
स्वीकृति और निवेश निकासी की
अनुमति दी. इस योजना से साल 2012-13
में 75 हजार 88 हेक्टेयर में
सिंचाई की गई.<br /><br />इसी तरह
छतरपुर जिले की सिंहपुर
बेराज मध्यम परियोजना के लिए
260 करोड़ 63 लाख रुपये की
पुनरीक्षित स्वीकृति और
निवेश निकासी की अनुमति
प्रदान की. परियोजना की
रूपांकित क्षमता 10 हजार 200
हेक्टेयर है. इसके अलावा
मंत्रि परिषद ने कई अन्य
महत्वपूर्ण फैसले भी लिए.<br /><br />
</p>

Television News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: मध्‍य प्रदेश में दो गुना हुआ पुजारियों का मानदेय
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017