अपने ही घर में रहना मुश्किल हुआ पूजा मिश्रा का

By: | Last Updated: Monday, 11 January 2016 12:36 PM
pooja misrra barred from entering family house

नई दिल्ली: अक्सर विवादों में रहने वाली एक्ट्रेस और वीजे पूजा मिश्रा फिर से विवादों में हैं. पूजा का लोखंडवाला के विंडसर टावर सोसाइटी में घुसना मुश्किल हो गया है. उनके खराब व्यवहार के चलते सोसाइटी के बाकी लोगों ने उनके सोसाइटी में घुसने पर बैन लगा दिया है. इस वजह से पूजा का अपनी फैमिली के साथ रहना मुश्किल हो गया है.

मुंबई मिरर की खबर के मुताबिक करीब साल भर पहले सोसाइटी की मैनेजिंग कमेटी ने पूजा मिश्रा को एक लिखित स्टेटमेंट के जरिए बताया था कि वह फ्लैट नंबर 4 में नहीं रह सकतीं.

कमेटी के मुताबिक पूजा के बुरे बर्ताव के चलते यह फैसला लेना पड़ा. पूजा मिश्रा पर कथित रूप से अपने पड़ोसी से बेवजह लड़ाई करने का आरोप हैं. पूजा का आरोप था कि उस अपार्टमेंट में रहने वाले कुछ लोग काले जादू के जरिए उनका करियर खराब करना चाहते हैं.

इस मामले में पूजा का कहना है कि उन्हें उन्हीं के घर में बैन करने के लिए वह विडसर सोसाइटी के खिलाफ कोर्ट तक जाएंगी.

दरअसल अपार्टमेंट 401 जिसमें पूजा रहती हैं वो उनकी बहन प्रिया के नाम पर है. प्रिया सिंगापुर में रहती है और उनके पैरेंट्स पुणे में पहते हैं. पिछले कुछ महीने से पूजा भी दिल्ली रह रहीं हैं.

फिलहाल हांगकांग में शूटिंग कर रही पूजा ने कहा सोसाइटी के सदस्यों ने मेरी फैमिली को लिखित रूप में कहा है कि मुझे इस घर में घुसने ना दिया जाए. ये घर मेरी फैमिली ने खरीदा है. कोई सोसाइटी किसी को उसके घर में घुसने से कैसे रोक सकती है. मुझे अपना बचाव कैसे करना है ये मैं जानती हूं. मैं खुद एक वकील हूं और मैं इस मामले को लेकर कोर्ट तक जाउंगी.

इस मामले में कानून के जानकारों का कहना है कोई रेजिडेंशियल सोसाइटी बिना कोर्ट ऑर्डर के किसी को अपने घर में घुसने से रोक नहीं सकती.

Television News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pooja misrra barred from entering family house
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: big boss flat pooja misrra
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017