'एक था राजा एक थी रानी': राणा जी और गायत्री के बीच आखिरकार शुरु हुआ रोमांस

By: | Last Updated: Wednesday, 28 October 2015 6:22 AM
Ranaji and Gayatri to share a romantic moment in ek tha raja ek thi rani

नई दिल्ली: सीरियल ‘एक था राजा एक थी रानी’ के आने वाले एपिसोड में राणा जी और गायत्री के बीच दूरियां कम होती दिखाई देंगी. सीरियल ‘एक था राजा एक थी रानी’ के पिछले एपिसोड में राजमाता गायत्री aka दृष्टि धामी को बताती है कि महल में एक ढोंगी है. राजमाता उसे बताती है कि यह ढोंगी एक काले पर्दे वाली महिला है. इसे जानकर गायत्री चौंक जाती है.

सीरियल ‘एक था राजा एक थी रानी’ के पिछले एपिसोड में राजमाता गायत्री aka दृष्टि धामी को बताती है कि महल में एक ढोंगी है. राजमाता उसे बताती है कि यह ढोंगी एक काले पर्दे वाली महिला है. इसे जानकर गायत्री चौंक जाती है. इसके बाद कुंवरजी को उस काले लिबास वाली महिला के साथ बात करते हुए और दिशा-निर्देश देते देखा जाता है. कुंवर जी किसी भी कीमत  पर राणा जी (सिद्धांत कार्णिक) और गायत्री को अलग करने के लिए कहते हैं. इस बीच राजमाता राणा जी से मिलकर उन्हें बेशकीमती गहनों के एक बॉक्स को गायत्री को देने के लिए कहती हैं.

दृष्टि धामी को हुआ ‘EYE INFECTION’,  

‘एक था राजा एक थी रानी’: लक्ष्यराज करेगा स्वर्णलेखा का यौन शोषण! 

गहनों के इस बॉक्स को देने के बाद राणा जी गायत्री को गहने पहनने में मदद करते हैं इस बीच ये दोनों एक -दूसरे के थोड़ा करीब आते हैं. अगले दिन. गायत्री राणा जी को ताना मारती है कि वह हर छोटी से छोटी बात पर नाराज हो जाते हैं. और कहती है कि अब से जब भी वह गुस्सा होंगे तब वह हर बार इस बात की गिनती करेगी. राणा जी गायत्री को चुनौती देते हैं कि अब से वह नाराज़ नहीं होंगे.

 

राणा जी को एक धोती पहनने की कोशिश करते दिखाया दिखे. जिसके बाद गायत्री उनसे पूछा  कि उन्हें धोती बांधनी आती है या नहीं? ऐसा करते वक्त ये दोनों एक-दूसरे के पास आगए और इन दोनों ने प्यारा सा इंटिमेट मूमेंट शेयर किया. इसके  बाद महल में गायत्री की एक डांस परफॉर्मेंस होगी, जिसकी राणा जी तारीफ करेंगे.

देखें किस तरह करीब आए राणाजी-गायत्री