‘सत्यमेव जयते -3’ में आमिर खान ने की खेलों को बढ़ावा देने के कोशिश

By: | Last Updated: Sunday, 5 October 2014 9:26 AM

नई दिल्ली: बॉलीवुड के सुपरस्टार आमिर खान मुद्दों पर आधारित अपने शो ‘सत्यमेव जयते’ के तीसरे सत्र के साथ छोटे पर्दे पर लौट आए हैं और इसमें उन्होंने चर्चा की है कि किस तरह से खेल किसी के जीवन को बदल सकता है.

 

इस सत्र के पहली कड़ी में आमिर ने युवाओं से नशीले पदाथरें के बजाय खेलों को अपनी आदत बनाने की अपील करते हुए खेलों के जरिए पुर्नवास पर जोर दिया.

 

पहली कहानी में एक बाल अपराधी अखिलेश के बारे में बताया गया, जो नशीले पदाथरें के सेवन का आदी था. उसे फुटबॉल खेलने की ओर मोड़ा गया तो वह बच्चों को प्रशिक्षण देने लगा. यहां तक कि वर्ष 2010 में उसने ब्राजील में हुए ‘होमलेस वर्ल्डकप’ में कप्तानी भी की.

 

अगले मेहमान राष्ट्रमंडल खेलों में गोल्ड मेडल हासिल करने वाली बबिता कुमारी और गीता कुमारी थीं. हरियाणा के सुदूर गांव में जन्मी इन दोनों बहनों ने पेशेवर पहलवान बनने के लिए तमाम बाधाओं के खिलाफ लड़ाई लड़ी.

 

आमिर ने इसके अलावा भी खेल से जुड़ी कई प्रेरणादायी कहानियों पर प्रकाश डाला. इस शो के अंत में बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल आईं. शो में अंत में यह सवाल पूछा गया कि क्या खेल संघों की शासन व्यवस्था का काम सिर्फ खिलाड़ियों को ही सौंप दिया जाना चाहिए. पहली कड़ी में चर्चा का विषय पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर द्वारा सुझाया गया था. उनका मानना है कि देश के भविष्य के निर्माण में खेल एक अहम भूमिका निभाते हैं.

 

तेंदुलकर ने ट्विटर पर पोस्ट किया, ‘‘आमिर के ‘सत्यमेव जयते’ की कड़ी मुझे अतीत में ले गई. स्पोर्ट्स4ऑल देश का भविष्य बदल देगा. मुमकिन है.’’

Television News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: satyamev-jayate_aamir
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017