जीएसटी के बाद पहले हफ्ते में बीसीसीआई ने 44 लाख रुपये टैक्स चुकाया

जीएसटी के बाद पहले हफ्ते में बीसीसीआई ने 44 लाख रुपये टैक्स चुकाया

केंद्र सरकार ने एक जुलाई को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू किया था. जीएसटी लागू किए जाने के बाद देश की सबसे अमीर खेल संस्था बीसीसीआई ने 44 लाख रुपये टैक्स चुकाया है. बीसीसीआई की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार जुलाई महीने में इस खेल बोर्ड ने 44,29,576 रुपये टैक्स चुकाया है.

By: | Updated: 09 Sep 2017 07:00 PM

नई दिल्ली: जहां बीसीसीआई विश्व का सबसे अमीर खेल बोर्ड है वहीं देश में टैक्स चुकाने के मामले में भी इसने झंडे गाड़ दिए हैं. सिर्फ एक हफ्ते में बीसीसीआई ने आयकर विभाग को इतना टैक्स दिया है कि आप जानकर हैरान रह जाएंगे.


केंद्र सरकार ने एक जुलाई को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू किया था. जीएसटी लागू किए जाने के बाद देश की सबसे अमीर खेल संस्था बीसीसीआई ने 44 लाख रुपये टैक्स चुकाया है. बीसीसीआई की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार जुलाई महीने में इस खेल बोर्ड ने 44,29,576 रुपये टैक्स चुकाया है.


भारतीय टीम के फिजियो पैट्रिक फरहार्ट को 5 महीने के लिये करीब 60 लाख रुपये दिये गए. कुछ खिलाड़ियों को भी 2015-16 सत्र के लिये अंतर्राष्ट्रीय मैचों से मिले सकल राजस्व का हिस्सा दिया गया. स्टुअर्ट बिन्नी को 92 लाख रुपये और हरभजन सिंह को 62 लाख रुपये भुगतान किया गया. बायें हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल को करीब 37 लाख और तेज गेंदबाज उमेश यादव को 35 लाख रुपये मिले.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Uncategorized News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story after sunny leone Arshi Khan Is Most Searched Entertainer on google