प्रद्युम्न हत्याकांड: मेरे बेटे की हत्या की जांच सीबीआई से कराई जाए- पिता वरुण

प्रद्युम्न हत्याकांड: मेरे बेटे की हत्या की जांच सीबीआई से कराई जाए- पिता वरुण

पीड़ित पिता वरुण ठाकुर ने राम बिलास शर्मा की पेशकश को खारिज करते हुए कहा कि कंडक्टर पहले से हत्या का औजार लिए खड़ा था और वो बाथरूम में पहले मौजूद था. इससे जाहिर होता है कि इस हत्या के पीछे कुछ दूसरी चीज़ें हैं.

By: | Updated: 10 Sep 2017 03:42 PM

गुरुग्राम: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम के नामी रेयान इंटरनेशनल स्कूल में अपने सात साल के बेटे की गला रेतकर हत्या किए जाने के बाद पिता वरुण ठाकुर ने इंसाफ की गुहार लगाई है. माता-पिता की मांग है कि इस हत्या की जांच सीबीआई से कराई जाए. ताकि बारीकी से जांच के नतीजे आ सके.


भारी मन से मीडिया के सामने इंसाफ की मांग करते हुए वरुण ठाकुर ने कहा, "सिर्फ 10 मीनट के भीतर हत्या को अंजाम दिया गया है, इसलिए मेरी मांग है कि इस हत्या के पीछे के घटनाक्रम को जांच में लाया जाए. इसकी बारीकी से जांच की जाए. इसमें सीबीआई की मदद ली जाए. सरकार राज्य से मेरा कहना है कि सीबीआई जांच की अनुमति दी जाए."


वरुण ठाकुर जब मीडिया से बात कर रहे थे तो उनके चेहरे और आवाज़ से अपने लाडले के खाने का दर्द साफ झलक रहा था, लेकिन उन्होंने कभी भी अपने गुस्सा को जाहिर नहीं किया, बल्कि बहुत ही शांत तरीके से राज्य सरकार से सीबीआई जांच की मांग की. अभिभावकों से भी शांति बनाए रखने की अपील की.


सरकार एक हफ्ते का वक़्त मांग रही है


आपको बता दें कि प्रद्युम्न के पिता की मीडिया से बात करने से पहले हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने कहा कि एक हफ्ते में जांच पूरी कर ली जाएगी और सभी गुनाहगारों का खुलासा कर लिया जाएगा. अगर उस जांच से माता-पिता संतुष्ठ नहीं होते हैं तो फिर वो जिस एजेंसी से चाहें, जांच कराई जा सकती है.


हालांकि, पीड़ित पिता वरुण ठाकुर ने राम बिलास शर्मा की पेशकश को खारिज करते हुए कहा कि कंडक्टर पहले से हत्या का औजार लिए खड़ा था और वो बाथरूम में पहले मौजूद था. इससे जाहिर होता है कि इस हत्या के पीछे कुछ दूसरी चीज़ें हैं.


वरुण ठाकुर कहते हैं, "मेरे मन में आशंका है कि मेरे बेटे की हत्या, तुरंत की घटनाक्रम का नतीजा नहीं है. इसलिए मेरी मांग है कि इस मामले में कोई एक फीसदी भी गुनाहगार है, चाहे वो स्कूल हो या कोई व्यक्ति विशेष... इसकी जांच के लिए सीबीआई की मदद ली जा सकती है. सीबीआई भी देश की ही बॉडी है."


वरुण ठाकुर का कहना है, "पुलिस की जांच पर उन्हें पूरा भरोसा है, लेकिन इस मामले की सीबीआई जांच कराई जाए. ताकि, चीजें बारीकी से बाहर आए जाए. और कोई गुनाहगार नहीं बचे. स्कूल प्रशासन हो, टीचर हो.. या कोई और स्टाफ हो. ताकि देशभर में तुरंत मैसेज चला जाए कि कल को इस तरह की कोई चीज़ रिपीट होती है, कहीं भी, किसी भी स्कूल में, किसी भी राज्य में, तो हमारा गिरेबान पकड़ा जाएगा."


आपको बता दें कि शुक्रवार की सुबह स्कूल परिसर में सात साल के मासूम प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी. पिता वरुण ठाकुर ने 7.55 पर अपने बेटे को स्कूल छोड़ा और 8.10 पर उन्हें फोन आया कि उनके बेटे का कत्ल हो गया है. जिला प्रशासन ने स्कूल के खिलाफ जांच के लिए तीन सदस्यों की एक कमेटी का भी गठन कर दिया है, जो अगले 24 घंटे में अपनी जांच रिपोर्ट देगी.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story