पठानकोट हमला: देश ने खोया अंतर्राष्ट्रीय स्तर का निशानेबाज फतेह सिंह

By: | Last Updated: Sunday, 3 January 2016 7:49 AM
Pathankot Air base attack: Fateh Singh, champion shooter dead

नई दिल्ली: देश की रक्षा के लिए अपनी जान तक कुर्बान कर देने वाले जांबाजों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया है नमन. पठानकोट आतंकी हमले में एयरफोर्स के कमांडो समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

डिफेंस सिक्योरिटी कोर के कुलवंत सिंह और फतेह सिंह ने आतंकियों का मुकाबला करते हुए अपनी जान कुर्बान कर दी. फतेह सिंह गुरदासपुर जिले के झंडा गुजरा गांव के रहने वाले थे. सेना में नौकरी कर चुके थे.

फिफ्टीन डोगरा रेजिमेंट में सूबेदार मेजर रहे. फिर ऑनरेरी कैप्टन बने. सेवा मेडल से वो सम्मानित हो चुके थे. फतेह सिंह एक माहिर निशानेबाज थे और इन्होंने 1995 में दिल्ली में आयोजित पहली राष्ट्रमंडल निशानेबाजी चैम्पियनशिप में गोल्ड और सिल्वर मेडल भी जीता था.

सेना से रिटायर्ड होने के बाद भी फतेह सिंह चैन से नहीं बैठे. डिफेंस सिक्योरिटी कोर ज्वाइन कर ली.  फतेह सिंह की पोस्टिंग कुछ वक्त पहले ही पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन में हुई थी. उनका बड़ा बेटा भी फौज में है.

देश की रक्षा की खातिर फतेह सिंह ने पूरी बहादुरी के साथ आतंकियों से लोहा लिया. अपनी जान गंवा दी लेकिन देश के दुश्मनों को उनके मंसूबों में कामयाब नहीं होने दिया  भारत में निशानेबाजी की संचालन संस्था भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ यानि NRAI ने निशानेबाज फतेह सिंह के निधन पर शोक जताया है.

पठानकोट हमले का पूरा अपडेट
पंजाब के पठानकोट में शुक्रवार-शनिवार रात में शुरू हुई मुठभेड़ शनिवार शाम 6.30 बजे ख़त्म हो गई. सुरक्षाबलों ने एयरफोर्स स्टेशन में मौजूद सभी पांच आतंकियों को मार गिराया और देर शाम तक कॉम्बिंग चलती रही.

जब सुरक्षाबल पूरी तरह आश्वस्त हो गए, तब इस ऑपरेशन को ख़त्म किया गया. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एनएसए अजीत डोवाल ने राजनाथ सिंह को जानकारी देते हुए कहा है कि सभी आतंकियो को मार गिराया गया है.

इस कार्रवाई में एक एयरफोर्स कमांडो और दो जवान भी शहीद हो गए हैं. इस हमले को लेकर एबीपी न्यूज को सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान में रहने वाले मौलाना अशफाक, हाफिज अब्दुल गफूर और कासिम जान हमले के मास्टरमाइंड हैं.

ये तीनों पाकिस्तान में अल रहमान ट्रस्ट चलाते हैं. अल रहमान ट्रस्ट आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से फ्रंटल ऑर्गनाइज़ेशन है. जैश-ए-मोहम्मद के लिए आतंकियों को ट्रेनिंग देने के साथ-साथ फंड इकट्टा करने का काम भी करता है.

जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया आतंकी मौलाना मसूद अजहर है. सूत्रों के मुताबिक ये खबर भी आ रही है कि पठानकोट के हमले का मास्टरमाइंड मसूद अजहर का छोटा भाई रऊफ हो सकता है. मसूद अजहर ही वो आतंकी है जिसे छुड़ाने के लिए कंधार हाईजैक की साजिश रची गई थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Pathankot Air base attack: Fateh Singh, champion shooter dead
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017