आखिरी संदेश

Monday, 25 June 2012 10:32 AM

रूपया गिर रहा है. महंगाई की रफ्तार बढ़ती ही जा रही है. औद्योगिक विकास का पहिया थमा हुआ है. रिजर्व बैंक ने आज देश की अर्थव्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए कुछ उपायों का एलान किया लेकिन इन कदमों का कोई असर होता नजर नहीं आ रहा. न शेयर बाजार को उपाय रास आए, न रूपये में मजबूती दे पाया. अब सवाल ये है कि इस्तीफा देने जा रहे प्रणब मुखर्जी कल अपने आखिरी संदेश में क्या कहेंगे?

LATEST VIDEO

 

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017