एसिड भी ज़हर की श्रेणी में

Thursday, 18 July 2013 1:58 AM

 एसिड अटैक रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने कड़े निर्देश दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि तेजाब फेंकने पर वैसी ही सजा मिलेगी जैसी जहर देने पर मिलती है. पीड़ित को कम से कम तीन लाख का मुआवजा देना होगा. बिना लाइसेंस तेजाब बेचना गैरजमानती अपराध होगा.

LATEST VIDEO

 

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017