गुजरात के आणंद से नुक्कड़ बहस

Sunday, 23 March 2014 9:19 AM

आणंद मध्य गुजरात का जिला और लोकसभा क्षेत्र. यूं तो सरदार पटेल का पुश्तैनी गांव करमसद इसी जिले में है, लेकिन आज दुनिया भर में आणंद अमूल के मुख्यालय के रूप में जाना जाता है. डॉ वर्गीज कुरियन और त्रिभुवनदास पटेल का बनाया दूध उत्पादकों का सहकारी संगठन अमूल जो भारत में श्वेतक्रांति का जरिया बना. इंस्टीट्यूट ऑप रूरल मैनेजमेंट और दर्जन भर कॉलेजों की मौजूदगी की वजह से आणंद शिक्षा के क्षेत्र में भी बड़ा नाम है.

आणंद. राजनीतिक तौर पर कांग्रेस का गढ़ रहा है. लोकसभा क्षेत्र में सात विधानसभा सीटें हैं. 2012 के चुनाव में इनमें से चार सीट कांग्रेस और एक सीट एनसीपी के हिस्से गई. बीजेपी यहां से दो सीट जीत पाई.
लोकसभा चुनावों की बात करें तो 1977 से लेकर 2009 तक दो बार को छोड़कर इस सीट पर कांग्रेस का कब्जा रहा. बीजेपी ये सीट सिर्फ 1989 और 1999 में जीत पाई.

आणंद के मौजूदा सांसद भरत सिंह सोलंकी हैं, जो यूपीए सरकार में पेयजल राज्यमंत्री भी हैं. कांग्रेस ने इस बार भी उन्हें ही मैदान में उतारा है, जबकि बीजेपी ने अपने विधायक दिलीप पटेल को लोकसभा का उम्मीदवार बनाया है.
आणंद में 30 अप्रैल को मतदान है. देखना ये है कि आणंद इस बार भी कांग्रेस के साथ रहेगा या यहां मोदी का जादू चलेगा.

LATEST VIDEO

 

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017