छोड़ पाएंगे छाप?

छोड़ पाएंगे छाप?

Updated: 03 Jun 2012 10:07 PM

क्रिकेट में भारत को बुलंदियों तक पहुंचाने वाले सचिन तेंडुलकर एक सांसद के तौर पर देश को कितना वक्त दे पाएंगे ये सवाल लगातार उठ रहा है. पुराने अनुभव बताते हैं कि कई बार किसी दूसरे क्षेत्र के चमकते सितारों को जब उच्च सदन के रास्ते राजनीति में दाखिल किया जाता है तो वो अपनी चमक खो देते हैं.