बढ़ सकती है EMI

Monday, 28 October 2013 11:34 AM

राजन ने चार सितंबर को गवर्नर पद संभालने के दो सप्ताह बाद ही रेपो दर में 25 आधार अंकों की वृद्धि कर इसे 7.5 फीसदी कर दिया था और महंगाई को चिंताजनक बताया था.रेपो दर वह दर है, जिस पर वाणिज्यिक बैंक आरबीआई से छोटी अवधि के लिए कर्ज लेते हैं.अभी रेपो दर 7.50 फीसदी और रिवर्स रेपो दर 6.50 फीसदी है.आरबीआई पिछले करीब तीन साल से महंगाई में कटौती और विकास को संबल प्रदान करने के बीच संतुलित कदम उठाने के लिए संघर्ष कर रही है.सितंबर में थोक महंगाई दर बढ़कर 6.46 फीसदी हो गई. उधर, विकास दर पिछले कारोबारी साल में एक दशक के निचले स्तर पांच फीसदी पर पहुंच गई.

LATEST VIDEO

 

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017