पड़ताल: नोटबंदी के एक साल बाद क्या सोचते हैं देश के छोटे व्यापारी?