झूठे दावों के रेगिस्तान में जनता को प्यासा रखने वालों की घंटी बजाओ