VVIP के चक्कर में क्यों फंसे जनता?