इस रिपोर्ट में समझिए पाटीदार और ओबीसी समाज की क्या है गुजरात चुनाव में अहमियत