निर्मोही अखाड़ा ने कहा, 'हिंदू और मुसनमान दोनों चाहते हैं राम मंदिर बने'