पूरी खबर: उसने कहा था!

Wednesday, 23 March 2016 11:27 PM

वो आज ही का दिन था यानी 23 मार्च 1928. जब भगत सिंह देश की खातिर फांसी के फंदे पर झूल गए थे. शहीदे आजम भगत सिंह को इस दुनिया से रुखसत हुए करीब 85 साल गुजर चुके हैं. लेकिन आज देश में उनके नाम पर राजनीति तेज हो गई है. राजनीतिक दलों के बीच उनके नाम को भुनाने की होड़ सी मच गई है. हर कोई उन पर अपना दावा ठोंक रहा है. आज राजनीतिक दल अपने चुनावी समीकरण, धर्म, जाति, वर्ग, और नस्ल के गुणा भाग से बनाते है तो वहीं सामप्रदायिक दंगो की आग में वोट की रोटिया भी सेकी जाती है. लेकिन भगत सिंह के शहादत दिवस पर आज आप भी कान खोलकर सुन लीजिए कि देश, समाज और धर्म को लेकर भारत के इस महान सपूत ने क्या कहा था.

LATEST VIDEO

 

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017