गुजरात के मन की बात: चित्रा के साथ चाय-फाफड़ा