गुरूजी: ना खत्म होने वाली बीमारियों का इलाज कैसे होगा ?