अब तक नहीं मिला मलेशिया एयरलाइंस के विमान का मलबा, आतंकवादी हाथ का संदेह

By: | Last Updated: Monday, 10 March 2014 2:53 AM

कुआलालंपुर: बीजिंग के लिए 239 सवारों को लेकर यहां से उड़ान भरने के बाद लापता हो गए मलेशिया एअरलाइंस जेटलाइनर का 48 घंटे के बाद भी कोई सुराग नहीं है. विमान की लगातार खोज जारी है. यात्रियों में कुछ फर्जी लोगों के शामिल होने की बात सामने आने के बाद मलेशिया के अधिकारियों ने रविवार को पहली बार मामले की जांच आतंकवादी कोण से करनी शुरू की है. विमान के 239 सवारों में चालक दल के 12 सदस्यों के अलावा 227 यात्रियों में पांच भारतीय, 154 चीनी और 38 मलेशियाई व अन्य देशों के नागरिक हैं. विमान को बीजिंग में स्थानीय समय के अनुसार शनिवार सुबह 6:30 बजे उतरना था.

 

पता चला है कि यात्रियों की सूची में शामिल तीन लोग विमान में सवार नहीं हुए. यात्रियों में शामिल एक इतालवी और एक आस्ट्रियाई नागरिक के पासपोर्ट में गुम हो गए थे. सीएनएन के मुताबिक, इतालवी और आस्ट्रियाई नागरिकों के नाम पर एक साथ टिकट खरीदे गए थे.

 

एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक एक चीनी नागरिक के पासपोर्ट पर यात्रा कर रहा यात्री भी फर्जी है. दक्षिण पूर्व चीन के फुजियान प्रांत के जिस व्यक्ति के पासपोर्ट का नंबर सूची में दिया गया है वह पासपोर्ट के असली धारक से मेल नहीं खाता है और असली व्यक्ति चीन से ही बाहर नहीं गया है. इस पासपोर्ट के मालिक का कहना है कि उसका पासपोर्ट न तो चोरी गया है और न ही खोया था.

 

कुआलालंपुर से उड़ान भरने के करीब एक घंटे बाद बोइंग 777-200ईआर कुछ इस तरह से लापता हो गया है कि उसका कहीं कोई चिन्ह भी नजर नहीं आ रहा है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, हवाई नियंत्रक से अंतिम संपर्क के अलावा विमान या उसका मलबा नहीं मिला है.

 

इस बात का संदेह जताया जा रहा है कि विमान शनिवार को दक्षिण चीन सागर में वियतनाम के तट के समीप दुर्घटनाग्रस्त हो गया होगा.

 

रक्षा मंत्री हिशमुद्दीन हुसैन के हवाले से मलेशियन स्टार के मुताबिक, विमान में फर्जी पहचान पर सवार होने का सच सामने आने के बाद मलेशिया ने विभिन्न देशों की आतंकवाद विरोधी एजेंसियों को सूचित किया है.

 

हुसैन ने कहा कि मलेशिया इस मुद्दे पर अमेरिका की संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) सहित विभिन्न खुफिया एजेंसियों के साथ काम करेगा.

 

हुसैन ने कहा, “यह अंतर्राष्ट्रीय नेटवर्क है इसलिए अकेले मलेशिया का आव्रजन विभाग सक्षम नहीं है.”

 

यह पूछे जाने पर कि कहीं विमान का अपहरण या उसके लापता होने में आतंकवादी तत्वों का हाथ तो नहीं है, उन्होंने कहा, “इस बिंदु पर हम यह तय नहीं कर सकते कि इसमें सुरक्षा खतरा हुआ है क्योंकि हम दूसरी तरफ ध्यान नहीं बंटाना चाहते हैं.”

 

रॉयल मलेशियन एअर फोर्स के प्रमुख जनरल रोडजाली दाउद ने एक संवाददाता सम्मेलन में रविवार को कहा कि सेना के रडार पर संकेत मिलता है कि लापता विमान अपने रास्ते से भटकते हुए वापस मुड़ा था.

 

वायुसेना प्रमुख ने कहा, “हमने रिकार्डिग की जांच की है और पाया है कि विमान वापस मुड़ा था.”

 

नागरिक विमानन महानिदेशक अब्दुल रहमान ने कहा, “जैसा कि बीती रात को भी कहा गया था, हमने अपने अभियान का दायरा बढ़ाया है, जिसमें मलेशिया द्वीप का पश्चिमी किनारा भी शामिल है.”

 

वियतनाम के हेलीकाप्टरों ने वियतनाम तट के पास विमान गायब होने के संदिग्ध क्षेत्र में समुद्र में तेल के धब्बे देखे. इस आशय की पुष्टि रविवार को तलाशी अभियान में जुटे एक अधिकारी ने दी.

 

मलेशियाई तलाशी दल ने अपनी खोज का दायरा बढ़ा दिया है और इस काम में मदद के लिए 22 हेलीकाप्टर और 40 पोत रवाना किए गए हैं.

 

वायु सेना प्रमुख ने कहा कि विमान का संपर्क स्थानीय समय के अनुसार 1:30 बजे चीन सागर के ऊपर से गुजरते समय टूट गया था.

 

उधर, मलेशिया एयरलाइंस ने स्थानीय समयानुसार सुबह 9.30 बजे एक बयान जारी कर कहा कि प्रभावित परिवार के सदस्यों की मदद उसकी शीर्ष प्राथमिकता है, जिसमें वित्तीय मदद भी शामिल है.

 

विमान को ढूंढ़ने के अभियान में कई देश सहयोग दे रहे हैं. मलेशिया के अतिरिक्त, चीन, सिंगापुर, वियतनाम, फिलीपीन्स, थाईलैंड और अमेरिका भी इस अभियान से जुड़े हैं. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने खोज अभियान में हर संभव मदद देने के आदेश दिए हैं, जिसके बाद चीनी नौसेना के दो पोतों को खोज अभियान के लिए रवाना कर दिया गया है. वियतनाम के रक्षा मंत्रालय के दो विमान भी इस काम में रविवार सुबह जुट गए हैं.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: अब तक नहीं मिला मलेशिया एयरलाइंस के विमान का मलबा, आतंकवादी हाथ का संदेह
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017