अमेरिका ने श्रीलंका पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के प्रस्ताव का स्वागत किया

By: | Last Updated: Friday, 28 March 2014 7:06 AM

वाशिंगटन: अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद द्वारा श्रीलंका पर पारित किए गए प्रस्ताव का स्वागत किया है और कहा है कि इससे राजपक्षे सरकार को यह ‘‘स्पष्ट संदेश’’ जाता है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय एशियाई देश में शांति, स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देने के प्रति प्रतिबद्ध है.

 

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की प्रवक्ता कैटलिन हेडन ने कल कहा, ‘‘आज का वोट यह स्पष्ट संदेश देता है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय श्रीलंका के नागरिकों के हित में शांति, स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए श्रीलंका सरकार के साथ मिलकर काम करने के प्रति प्रतिबद्ध है.”

 

उन्होंने कहा कि अमेरिका प्रस्ताव के उन विचारों से सहमत है जिसमें श्रीलंका में संघर्ष के दौरान कथित मानवाधिकार उल्लंघनों की जांच का प्रस्ताव रखा गया है और वहां मानवाधिकार की स्थितियों पर निगरानी का विचार प्रस्तुत किया गया है.

 

अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी ने भी कहा कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद का निर्णय राजपक्षे सरकार को यह स्पष्ट संदेश देता है कि अब समय शांति और समृद्धि बनाए रखने का है और न्याय एवं जवाबदेही के लिए अब और इंतजार नहीं किया जा सकता.

 

इसके अलावा उन्होंने हाल के दिनों में नागरिक समाज के कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी और प्रताड़ना सहित श्रीलंकाई नागरिकों के खिलाफ की कई कार्रवाई पर भी गहरी चिंता जताई. केरी ने कहा कि ध्यान देने वाली बात यह है कि श्रीलंकाई नागरिक काफी उदार हैं.

 

उन्होंने वर्षों तक युद्ध के दौरान धौर्य और दृढ़संकल्प का परिचय दिया है. उन्होंने कहा, ‘‘अब वे शांति के समय में लोकतंत्र और समृद्धि की मांग कर रहे हैं. वे इसके हकदार हैं.’’

 

केरी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के प्रस्ताव में इस बात को फिर से दोहराया गया है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय श्रीलंका में मानवाधिकारों के सम्मान और लोकतांत्रिक शासन को पुन: लागू करने में श्रीलंकाई सरकार के प्रयासों में सहयोग के लिए प्रतिबद्ध है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘यही कारण है कि प्रस्ताव में यह आग्रह किया गया है कि श्रीलंका में मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय मानवाधिकार की स्थितियों की निगरानी रखना जारी रखे.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘इसी वजह से यह आह्वान किया गया है कि कार्यालय श्रीलंका में नागरिक युद्ध के दौरान हुए गंभीर मानवाधिकार उल्लंघनों और इससे संबंधित अपराधों के आरोपों की जांच करे और इसी कारण अमेरिका मौलिक स्वतंत्रता की रक्षा के लिए आवाज उठाता रहेगा जिसका श्रीलंकाई नागरिकों को लाभ मिल सके.’’

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: अमेरिका ने श्रीलंका पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के प्रस्ताव का स्वागत किया
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017