अमेरिका पर एक फिर छाया आतंकवाद का साया

अमेरिका पर एक फिर छाया आतंकवाद का साया

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM

<p style="text-align: justify;">
<b>वाशिंगटन:</b>
अमेरिका में बोस्टन मैराथन
के दौरान आतंकवादियों
द्वारा किए गए दो भयावह बम
विस्फोटों के पीछे कई सवाल
हैं जिनके जवाब तलाशे जा रहे
हैं. इन बम विस्फोटों में तीन
लोगों की मौत हो गई और कम से कम
144 लोग घायल हो गए. बोस्टन बम
धमाके के रूप में अमेरिका में
11 वर्षो के बाद कोई आतंकवादी
हमला हुआ है. <br /><br />बहरहाल,
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक
ओबामा ने दुनिया के सबसे
पुराने खेल आयोजन, बोस्टन
मैराथन के दौरान सोमवार के
हड़ताल की मांग को रोक दिया
और कहा कि 9/11 के बाद हुई इस
पहली बड़ी घटना को आतंकवादी
कार्रवाई मानते हुए इसके लिए
जिम्मेदार लोगों को न्याय के
पूरे भार को सहना पड़ेगा.
ओबामा ने कहा कि उनका प्रशासन
इस घटना पर स्पष्ट दृष्टि से
काम कर रहा है.<br /><br />अमेरिकी
समाचार चैनल 'सीएनएन' ने
राष्ट्रपति कार्यालय के एक
अधिकारी के हवाले से कहा, "कई
विस्फोटों के साथ की गई कोई
भी घटना स्पष्टत: आतंक फैलाने
वाली घटना होती है, और इस घटना
को भी आतंकवादी घटना के रूप
में ही लिया जाएगा."<br /><br />अधिकारी
ने आगे कहा, "हालांकि, अभी तक
हमें यह नहीं पता चल सका है कि
ये हमले किसने करवाए. इसलिए
विस्तृत जांच के जरिए ही पता
किया जाएगा कि यह घटना किसी
आतंकवादी समूह द्वारा.. या
विदेशी समूह द्वारा या किसी
घरेलू समूह द्वारा किया गया."<br /><br />सीबीएस
बोस्टन स्टेशन
'डब्ल्यूबीजेड-टीवीज' के
अनुसार इस बीच कानून
प्रवर्तन अधिकारी बोस्टन बम
विस्फोट मामले की जांच
सोमवार को देर शाम से लेकर
मंगलवार की सुबह तक करते रहे.
इस बीच अधिकारियों ने बोस्टन
के उपनगरीय इलाके रिवेयर में
एक अपार्टमेंट की तलाशी ली.<br /><br />डब्ल्यूजेड
ने कहा कि खोजबीन नौ घंटो तक
चलती रही. रिवेयर अग्निशमन
विभाग ने अपने आधिकारिक
फेसबुक खाते पर लिखा कि यह
खोजबीन एक विशेष व्यक्ति को
खोजने के लिए की गई.<br /><br />अमेरिकी
समाचार पत्र 'बोस्टन ग्लोब'
के अनुसार बोस्टन बम विस्फोट
में मारे गए तीन लोगों में एक
आठ वर्षीय बच्चे की पहचान
मार्टिन रिचर्ड के रूप में कर
ली गई है.<br /><br />विस्फोट में
घायल 144 लोगों में 17 की हालत
बेहद नाजुक है और 25 की हालत
गंभीर है. घायलों में कम से कम
आठ बच्चे भी शामिल हैं.<br /><br />समाचार
चैनल सीएनएन ने एक अधिकारी के
हवाले से कहा कि बम विस्फोट
की जांच संघीय जांच एजेंसी
(एफबीआई) कर रही है और संघीय
कानून लगा दिया गया है, जिसके
अंतर्गत एक जगह भीड़ लगाने पर
पाबंदी लगा दी गई है.<br /><br />बोस्टन
ग्लोब ने सूत्रों के हवाले से
कहा कि अधिकारियों ने एक सऊदी
अरब के नागरिक से पूछताछ की.
विस्फोट स्थल से यह व्यक्ति
भागने की कोशिश कर रहा था तभी
एक दर्शक ने उसे पकड़ लिया.<br /><br />बोस्टन
बम विस्फोट से दुखी अमेरिका
की राजधानी वाशिंगटन में
शोकस्वरूप राष्ट्रीय झंडे
को आधा झुका दिया गया है.<br />
</p>

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मालदीव ने संविधान और भारत के अनुरोध को ताक पर रखा, 30 दिनों तक बढ़ाई इमरजेंसी