इंटरनेट किसी देश की जागीर नहीं : ब्राजील

इंटरनेट किसी देश की जागीर नहीं : ब्राजील

By: | Updated: 24 Apr 2014 04:26 PM
साओ पाओलो: ब्राजील की राष्ट्रपति डिल्मा रूसेफ ने बुधवार को यहां एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि साइबरस्पेस प्रशासन में किसी एक देश का महत्व दूसरे से अधिक नहीं हो सकता. उन्होंने नेटमंडियल इंटरनेशनल सम्मेलन में यह बात कही. सम्मेलन में 85 से अधिक देशों के विशेषज्ञ इंटरनेट के नियमन से संबंधित मुद्दे पर विचार करेंगे और निगरानी के एक नए मॉडल पर सहमति बनाने की कोशिश करेंगे.

 

पूर्व अमेरिकी खुफिया कंट्रैक्टर एडवर्ड स्नोडेन द्वारा गोपनीय दस्तावेज जारी करने के बाद ब्राजील में इंटरनेट प्रशासन के मॉडल में संशोधन की आवाज उठी है. गोपनीय दस्तावेज से पता चला है कि अमेरिका की खुफिया एजेंसी ने ब्राजील के नागरिकों, कंपनियों और खुद राष्ट्रपति की भी जासूसी की थी.

 

रूसेफ ने अमेरिका द्वारा की गई जासूसी को अस्वीकार्य बताते हुए उसकी निंदा की. उन्होंने कहा कि इंटरनेट एक बहुलतावादी, खुला और मुक्त माध्यम है. संवादों की निगरानी करना इंटरनेट के इस चरित्र का उल्लंघन है.

 

सम्मेलन के उद्घाटन के दौरान रूसेफ ने आईसीएएनएन की निगरानी बंद करने के अमेरिका के हाल के फैसले की भी सराहना की. आईसीएएनएन लॉस एंजेलिस स्थिति एक गैर लाभकारी संगठन है, जो इंटरनेट डोमेन नाम और पता प्रदान करता है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest World News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story सिंगापुर वालों के अच्छे दिन- बजट में फायदा के बाद लाखों नागरिकों को मिलेगा 300 सिंगापुर डॉलर का बोनस