खुद को पैगंबर बताने वाले 70 वर्षीय मानसिक रोगी को रिहा करने की अपील

By: | Last Updated: Friday, 21 February 2014 2:18 PM
खुद को पैगंबर बताने वाले 70 वर्षीय मानसिक रोगी को रिहा करने की अपील

लंदन: ब्रिटेन के पॉलीटीशियन्स और कई मुसलिम संस्थाओं के प्रमुखों ने पाकिस्तान में ईशनिंदा कानून के तहत मौत की सजा का इंतजार कर रहे मानसिक रोगी ब्रिटिश नागरिक मोहम्मद असगर को रिहा करने की अपील की है. 70 वर्षीय असगर के परिजनों समेत ब्रिटेन की कई हस्तियों ने पाकिस्तान के राष्ट्रपति मामनून हुसैन से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है.

 

बीबीसी के मुताबिक मुहम्मद असग़र स्कॉटलैंड के एडिनबर्ग शहर के रहने वाले हैं. उन्होंने पुलिस वालों को एक चिट्ठी भेजकर खुद को पैग़ंबर बताया था. वो पिछले कई सालों से पाकिस्तान में रह रहे हैं.

 

सरकारी वकील जावेद गुल का कहना था, “असग़र ने ख़ुद को अदालत के भीतर भी पैग़ंबर बताया है. उसने जज के सामने भी इस बात को स्वीकार किया है.” लेकिन असग़र की वकील ने बीबीसी को बताया कि अदालत परिसर से सभी को बाहर कर दिया गया था और पूरी कार्यवाही बंद दरवाज़े के अंदर हुई.

 

असग़र की वकील का ये भी कहना था कि वो इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ ऊँची अदालत में चुनौती देगी. पाकिस्तान के उच्च न्यायालयों ने ईशनिंदा क़ानून संबंधी फ़ैसलों को पहले भी कई बार उचित साक्ष्यों के अभाव में पलटा है.

 

वहीं ब्रिटेन से मिली ख़बरों के मुताबिक़ असग़र को शीज़ोफ़्रीनिया नामक बीमारी है और एडिनबर्ग के एक अस्पताल में उनका इलाज भी चल रहा है लेकिन अदालत ने इस मेडिकल रिपोर्ट को मानने से इंकार कर दिया.

 

असग़र साल 2010 से ही जेल में हैं और उनके वकीलों की मानें तो उन्होंने जेल में ही कई बार अपनी जान देने की कोशिश की थी. 97 फ़ीसद मुस्लिम आबादी वाले देश पाकिस्तान में ईश-निंदा क़ानून बहुत ही संवेदनशील क़ानून है और इस मामले में पहले भी लोगों की गिरफ़्तारी होती रही है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: खुद को पैगंबर बताने वाले 70 वर्षीय मानसिक रोगी को रिहा करने की अपील
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017